वायरल वीडियो कांड : SSP नोएडा सहित कई पर कार्यवाही की तैयारी में योगी सरकार, IPS लॉबी में हड़कंप

लखनऊ । वायरल वीडियो को लेकर खड़े हुए बखेड़े के बाद नोएडा के एसएसपी वैभव कृष्ण समेत कुछ और अधिकारियों को भी भुगतना पड़ सकता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को गोरखपुर चले गए। यह माना जा रहा है कि उनके वापस राजधानी लौटने के बाद कार्रवाई के आदेश जारी हो सकते हैं। आईपीएस लॉबी मे वायरल हुई वीडियो कांड से खलबली मची हुई है ।

डीजीपी ओपी सिंह ने शुक्रवार को ही मेरठ के आईजी आलोक सिंह को वैभव कृष्ण से 24 घंटे में स्पष्टीकरण लेने को कहा था पर शनिवार देर शाम तक उन्होंने अपना जवाब नहीं भेजा था। मेरठ के एडीजी ने भी वैभव से जवाब तलब कर रखा है। उनसे मेरठ के एक पत्रकार को गिरफ्तार करने के लिए नोएडा पुलिस की टीम को भेजने का कारण पूछा गया है। .

जानकारों के अनुसार इस पत्रकार ने वैभव कृष्ण को उनके संबंध में जारी वीडियो क्लिप उपलब्ध कराई थी। इस बात की जानकारी कुछ वरिष्ठ अधिकारियों को भी थी। पत्रकार से वीडियो क्लिप हासिल करने के बाद एसएसपी नोएडा ने उसकी गिरफ्तारी के आदेश जारी कर दिए थे। इसी वजह से मेरठ पहुंची नोएडा पुलिस की टीम को उच्च अधिकारियों ने वापस जाने को कहा था। सूत्रों का कहना है कि एसएसपी नोएडा द्वारा अन्य आईपीएस अफसरों पर भ्रष्टाचार संबंधी आरोप वाले गोपनीय दस्तावेज को लीक किए जाने के मामले में ऊपर तक नाराजगी है। दस्तावेज लीक होने से सरकार की छवि पर बात आ रही है। विवाद में घिरे एसएसपी के खिलाफ जल्द ही कार्रवाई की संभावना जताई जा रही है। चर्चा यह भी है कि इस मामले को लेकर कुछ और आईपीएस अफसरों के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।

इस बीच वीडियो व ऑडियो की फोरेंसिक जांच कराने की कवायद शुरू कर दी गई है। संबंधित लोगों से जानकारी भी हासिल की जा रही है। पूरे प्रकरण की गोपनीय रिपोर्ट भी तैयार की जा रही है जिसके बाद कार्रवाई का सिलसिला शुरू होगा। हालांकि इस मामले में सरकार का पक्ष रखने के लिए डीजीपी ओपी सिंह ने बाकायदा प्रेस वार्ता कर बयान दिया था पर मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए वह शनिवार को प्रकरण में हो रही कार्यवाही पर कुछ भी बोलने से कतराते रहे।