यमुना नदी पर बालू खनन की हकीकत,अधिकारियों ने की जाँच

कालपी/जालौन,कुलदीप मिश्रा : जिलाधिकारी नरेंद्र शंकर पांडे तथा पुलिस अधीक्षक स्वप्निल एम के निर्देशन के तहत शुक्रवार को कालपी के उपजिलाधिकारी सतीश चंद्र ,डिप्टी एसपी सुबोध गौतम ,कोतवाल संजय गुप्ता, राजस्व कानूनगो मुन्ना सिंह ,हरेंद्र सिंह ,प्रमोद दुबे , शिव कुमार दुबे तथा कानपुर देहात की भोगनीपुर के उपजिलाधिकारी राम शिरोमणि, नायब तहसीलदार संजय कुमार सिंह, क्षेत्रीय लेखपाल ज्ञानेश कुमार की संयुक्त टीम ने यमुना नदी के खनन क्षेत्रों का निरीक्षण किया।
 संयुक्त जांच दल ने आधिकारिक रुप से जो हकीकत परखी है। उसमें पूरा मामला कानपुर देहात के भोगनीपुर तहसील के अंतर्गत ग्राम दौलतपुर यमुना बालू खनन क्षेत्र का प्रकाश में आया है। उप जिलाधिकारी सतीश चंद्र ने बताया कि जनपद कानपुर देहात सीमा के अंतर्गत ग्राम दौलतपुर  क्षेत्र खंड संख्या 3 रकबा 12.36 एकड़ बालू खनन का पट्टा मेसर्स पांडेय कंस्ट्रक्शन कंपनी औरैया के नाम आवंटित हुआ था। पट्टेधारक कंपनी के द्वारा वैधानिक तरीके से यमुना नदी के निर्धारित खंड से बालू खनन किए जाने की स्थलीय निरीक्षण में पुष्टि हुई है। उन्होंने बताया कि कालपी तहसील क्षेत्र में खनन का कार्य कतई नहीं हो रहा है ।यह बात 2 जनपदों क अधिकारियों की जांच में प्रकाश में आई है। भोगनीपुर के उप जिलाधिकारी राम शिरोमणि के अनुसार वैधानिक तरीके से ही खनन का कार्य चल रहा है ।जांच में किसी प्रकार की गड़बड़ी नहीं मिली है।