गरीबी की बेबसी : विधवा ने बच्चों का पेट भरने के लिए सिर मुंडवाया, 150 रुपये में बेचे बाल

तमिलनाडु की एक विधवा महिला ने अपने बच्चों का पेट भरने के लिए सिर के बाल मुंडवा कर बेंच दिए। बेचे गए बाल के से मिले रुपयों से उसने भूखे बच्चों को खाना खिलाया। इतना ही नहीं, इसके बाद उसने रोज-रोज की परेशानियों से बचने के लिए आत्महत्या करने का फैसला भी किया लेकिन ऐसा हो न सका।

जानकारी के अनुसार, तमिलनाडु के सलेम की रहने वाली 31 साल की प्रेमा नाम की महिला ने अपने तीन भूखे बच्चों को खाना खिलाने के लिए सिर के बाल तक बेच दिए। उसके पति ने कर्ज के बोझ में दबकर सात महीने पहले आत्महत्या कर ली थी। प्रेमा ने पांच, तीन और दो साल के मासूम बच्चों का पेट भरने के लिए पड़ोसियों से उधार पैसे भी मांगे लेकिन उन्होंने उधार देने से मना कर दिया। कुछ ने कहा कि आज शुक्रवार है और इस दिन उधार देना अपशकुन माना जाता है।

खुदकुशी करने का था प्लान-
प्रेमा ने अपने सिर के बाल बेचकर भूखे बच्चों का पेट तो भर दिया लेकिन कल की चिंता से उसने खुदकुशी करने का फैसला किया। उसने बचे हुए पैसों से जहरीला कीटनाशक खरीदने की कोशिश की लेकिन दुकानदार ने शक होने के बाद उसे कीटनाशक नहीं दिया। इतना ही नहीं, इसके बाद उसने जहरीले पौधे खाने की कोशिश की लेकिन उसकी बहन ने रोक दिया। उसके इस व्यथा की जानकारी जब एक ग्राफिक डिजाइनर को हुई तो उसने क्राउड फंडिग के जरिए महिला के मदद की अपील की। इस घटना की जानकारी होने के बाद क्राउड फंडिंग से उसे 1.45 लाख रुपये मिले। इसके अलावा सलेम जिला प्रशासन ने विधवा पेंशन भी दिया है।