‘हमारी देश की सीमाओं पर जो हो रहा वह भी राष्ट्रीय सुरक्षा की एक बड़ी चूक है’ क्या पीएम कभी इस पर भी बात करेंगे?

नई दिल्ली। पंजाब में प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा में हुई चूक मामले पर आज जहां सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर निशाना साधा है। पंजाब में प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा में हुई चूक के मसले पर अब राजनीति तेज हो गई है। एक तरफ जहां भारतीय जनता पार्टी के कई नेता पंजाब सरकार पर निशाना साध रहे हैं वहीं कांग्रेस के नेता इसे राजनीति से प्रेरित बता रहे हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने आज एक ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘हमारी सीमाओं पर जो हो रहा वह भी राष्ट्रीय सुरक्षा की एक बड़ी चूक है, क्या पीएम कभी इस बारे में बात करेंगे?’

दरअसल राहुल सीमा पर चीन की अवैध गतिविधियों को लेकर पीएम मोदी पर अकसर निशाना साधते रहते हैं। इससे पहले भी राहुल गांधी ने साल के अंतिम दिन एक ट्वीट कर चीन के अरुणाचल प्रदेश में 15 जगहों के नए नाम रखने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा था। राहुल ने एक अखबार में छपी एक रिपोर्ट को साझा करते हुए लिखा था कि अभी कुछ दिनों पहले हम 1971 में भारत की गौरवपूर्ण जीत को याद कर रहे थे। देश की सुरक्षा और विजय के लिए सूझ-बूझ व मजबूत फैसलों की जरूरत होती है। खोखले जुमलों से जीत नहीं मिलती।

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले की सुरक्षा में चूक के 24 घंटे बाद कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से इस संबंध में बात की थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोनिया गांधी ने सीएम चन्नी से इस मामले की विस्तृत जानकारी ली और उन्होंने चन्नी से कहा कि नरेंद्र मोदी पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं, इसलिए उनकी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाना चाहिए। खबरों के मुताबिक, सोनिया ने सीएम चन्नी से कहा कि इस मामले में जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। इस दौरे को लेकर सुरक्षा के पूरे बंदोबस्त किए जाने चाहिए थे।

वहीं तमाम कांग्रेस नेताओं बयानों से साफ नजर आ रहा है कि पीएम सुरक्षा के मुद्दे पर कांग्रेस में ही एकराय नहीं है। पार्टी दो धड़ों में बंटी नजर आ रही है। पंजाब के सीएम जहां इसे चूक का मामला नहीं मान रहे हैं, वहीं फिरोजपुर से विधायक ने इसे चूक का बड़ा मामला बताया है। उधर, राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी इसे भाजपा का ड्रामा करार देते हुए कहा था कि उसे बेकार का शोर नहीं मचाना चाहिए। जबकि सांसद मनीष तिवारी ने सुरक्षा चूक की जांच कराने की मांग की है।