उत्‍तर प्रदेश चुनाव:रायबरेली सदर सीट से प्रियंका गांधी लड़ स‍कती हैं विधानसभा चुनाव

रायबरेली। उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की तारीखों की घोषणा हो चुकी है। यूपी में कांग्रेस की चुनावी कमान स्‍वर्गीय इंदिरा गांधी की पोती प्रियंका गांधी ने अपने कंधों पर ली है। पिछले दो वर्षों से प्रियंका गांधी यूपी के जिलों-जिलों में पहुंच कर कांग्रेस को फिर से खड़ा करने में जुटी हुईं हैं। वहीं अब चुनाव की तारीख घोषित होने के बाद लोग ये जानना चाहते हैं कि क्‍या प्रियंका गांधी चुनाव लड़ेगी? अगर चुनाव लड़ेगी तो यूपी की किस विधानसभा सीट से अपनी किस्‍मत आजमाएंगी?

याद रहे यूपी में चुनावी बिगुल बजने से पहले प्रियंका गांधी ने यूपी में नारा दिया ‘मैं लड़की हूं लड़ सकती हूं’। इस नारे के साथ उन्‍होंने यूपी चुनाव में 40 फीसदी सीटों से महिलाओं को टिकट देकर चुनाव लड़वाने का ऐलान किया था। प्रियंका के इस मास्‍टर स्‍ट्रोक से अन्‍य दल भी स्‍टंप आउट हो गए और यूपी की सियासत गरमा गई थी। वहीं ‘मैं लड़की हूं लड़ सकती हूं’ का नारा प्रियंका ने अपने लिए भी दिया है क्‍या वो भी चुनाव लड़ेगी? या ये कैंपेन केवल अन्‍य महिलाओं के लिए है? चूंकि अभी तक कांग्रेस ने ये साफ नहीं किया है क्‍या किसी बड़े चेहरे के ही चुनाव मैदान में उतरेगी। तो ऐसे में ये भी अटकलें लगाई जा रही हैं कि भाजपा और सपा को टक्‍कर देने के के लिए कांग्रेस को किसी बड़े चेहरे को मैदान में उतारना होगा। ये बड़ा चेहरा प्रियंका गांधी का भी हो सकता है।

बता दें रायबरेली सदर सीट जिस पर वर्षों से कांग्रेस का कब्जा है उस सीट पर 2017 में विजयी हुईं अदिति सिंह बागी तेवर दिखा कर यूपी चुनाव से ठीक पहले भाजपा में शामिल हो चुकी हैं और इस सीट से भाजपा उन्‍हें ही टिकट देकर लड़ाने की फिराक में हैं। ऐसे में रायबरेली जो कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र है तो ऐसे में रायबरेली कांग्रेस के लिए और भी अहम है और रायबरेली की सदर सीट को सुरक्षित करने के लिए कांग्रेस को बड़ा दांव लगाना पड़ेगा। चुनाव से पहले सुगबुगाहट तेज हो गई है कि कांग्रेस की गढ़ रही सदर सीट पर कांग्रेस प्रियंका गांधी को चुनावी मैदान में उतार सकती है।

रायबरेली की लोकल राजनीति पर पैनी नजर रखने वाले राजनीतिक जानकारों के अनुसार अगर प्रियंका सदर सीट से चुनाव लड़ती हैं तो इस सीट पर उनकी जीत पक्‍की है। वहीं सदर सीट पर प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने पर इस सीट के साथ रायबरेली के आस-पास की 3 से 4 सीटों पर कांग्रेस उम्‍मीदवार की जीत तय है। राजनीति जानकारी के अनुसार अदिति सिंह ने जो पिछला 2017 का विधानसभा चुनाव जीता था वो अपने पिता अखिलेश सिंह के कारण जीता था लेकिन अदिति अकेले दम पर कोई कमाल दिखा पाएंगी इसमें संदेह है।

प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने से न केवल कांग्रेस रायबरेली सदर की प्रतिष्ठापूर्ण सीट बचाने में कामयाब हो सकती है बल्कि अपने परंपरागत गढ़ अमेठी सुल्तानपुर में भी बेहतर प्रदर्शन करने में सफल हो सकती है। अमेठी लोकसभा चुनाव हारने फिर रायबरेली जिले के दो विधायकों के पाला बदल लेने के बाद सदमे में आई पार्टी के लिए प्रियंका का ये फैसला संजीवनी का काम कर सकता है। पूरे अवध क्षेत्र में इस फैसले का असर होगा।