UP में सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग को लेकर राज्यपाल से मिले सपा के दिग्गज नेता

लखनऊ | प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्षों की जारी उठा पटक के बीच सपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने सूबे के राज्यपाल राम नाइक से मुलाकात की है |  महामहिम राज्यपाल राम नाईक से राजभवन में मिलकर इस प्रतिनिधिमंडल ने  निर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्षों तथा ब्लाक प्रमुखों को भाजपा के पक्ष में सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर पद से हटाने की कार्यवाही का विरोध करते हुए दो ज्ञापन सौंपे। राज्यपाल महोदय ने प्रतिनिधिमंडल की बातें गंभीरता से सुनी और उनपर कार्यवाही का आश्वासन दिया।
प्रतिनिधिमण्डल में नेता विरोधी दल  रामगोविंद चौधरी, नेता प्रतिपक्ष विधान परिषद  अहमद हसन, पूर्वमंत्री  राजेंद्र चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष  नरेश उत्तम पटेल तथा विधायक  शैलेंद्र यादव ‘ललई‘ शामिल थे।  समाजवादी पार्टी द्वारा राज्यपाल महोदय को दिए गए एक ज्ञापन में कहा गया है कि जबसे उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार सŸाा में आई है तभी से जनपदों में जिला पंचायत अध्यक्षों और ब्लाक प्रमुखों को इस्तीफे के लिए जबरन मजबूर किया जा रहा है। समाजवादी पार्टी के समर्थित सदस्यों के विरूद्ध व उनके परिवार के सदस्यों पर गंभीर मुकदमें लगाकर प्रताड़ित किया जा रहा है। इसमें पुलिस का भी दुरूपयोग किया जा रहा है। समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने इस सम्बंध में एक अन्य ज्ञापन देकर औरैया में पुलिस अधीक्षक द्वारा पूर्ण रूप से भाजपा नेताओं के दबाव में काम करने और समाजवादी पार्टी के समर्थको के विरूद्ध गंभीर धाराओं में फर्जी केस दर्ज करने, दुव्र्यहार करने के आरोप लगाए है। यहां तक कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा पूर्व मुख्यमंत्री  अखिलेश यादव को भी औरैया जाने से रोका गया। प्रतिनिधिमण्डल ने महामहिम राज्यपाल से निष्पक्षता से चुनाव होने देने और अफसरशाही को नियंत्रित करते हुए औरैया के जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक संजीव त्यागी को तत्काल स्थानांतरित किए जाने की मांग की।