UP DGP बोले, ‘बड़े अपराधियों को जेल जरूरी नही, जहां होना चाहिए भेजिए’

लखनऊ; उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था की समीक्षा को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बैठक से पहले पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह ने रिहर्सल बैठक में बड़े अपराधियों को जेल भेजने की बजाय उनकी असली जगह भेजने के निर्देश दिए। इस बैठक के दौरान उन्होंने जोन अफसरों को आने वाले पर्व समूह दीपावली, कार्तिकी पूर्णिमा जैसे त्योहारों, निकाय चुनावों, महिला अपराध नियंत्रण और पुलिस व्यवहार में आवश्यक सुधार लाने संबंधी आवश्यक निर्देश दिए। इनमें से अपराधियों से निपटने के लिए नितांत स त रवैया भी शामिल हैं।

बड़े अपराधियों को जेल भेजना जरूरी नहीं उन्हें जहां होना चाहिए भेजिए। शिकायत करने वाले हर व्यक्ति की सुनवाई हर हाल में की जानी चाहिए। पहले से रंजिश का पता लगाए ताकि हत्या होने की नौबत न आने पाए। निठल्ले थानेदार और अधिकारियों को बचाने के बजाय दंडित कर हटाएं। बांग्लादेशियों (अवैध नागरिकता) का नेटवर्क पूरी तरह ध्वस्त कर दें। अपराधी कैसा भी (संरक्षित-गैर संरक्षित) हो हर हाल में कुचल डालें।