HRD मंत्री बोले- ‘विश्वविद्यालयों को नहीं बनने देंगे राजनीति का अड्डा’

देहरादून। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है कि विश्वविद्यालयों को राजनीति का अड्डा नहीं बनने दिया जायेगा। निशंक ने विपक्षी दलों पर विश्वविद्यालयों को राजनीति का अड्डा बनाने का प्रयास करने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘विश्वविद्यालय ज्ञान अर्जन का केंद्र हैं, जहां देश के भविष्य का निर्माण होता है। हम उन्हें राजनीति का अड्डा नहीं बनने दे सकते। निशंक ने संशोधित नागरिकता कानून :सीएए: के खिलाफ विश्वविद्यालयों में हुए विरोध प्रदर्शनों के बारे में संवाददाताओं के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि संसद द्वारा पारित सीएए पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से प्रताड़ित होकर भारत में शरण लेने वाले धार्मिक अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने के लिये है और इसमें कुछ भी गलत नहीं है।

उन्होंने कहा, ‘‘जब पाकिस्तान का निर्माण हुआ था तब वहां धार्मिक अल्पसंख्यकों की जनसंख्या 22 फीसदी थी। आज यह घटकर केवल 3.7 प्रतिशत रह गयी है। धर्म के आधार पर प्रताड़ना सहने के कारण उन्होंने भारत में पनाह मांगी है और सीएए केवल उन्हें नागरिकता देने के लिये है।’’ कानून को मानवीय बताते हुए उन्होंने कहा कि इससे भारत में मुसलमानों की स्थिति पर कोई फर्क पड़ने वाला नहीं है। उन्होंने कांग्रेस के इस पर बवाल मचाने पर भी आश्चर्य जताया।