हैदराबाद एनकाउंटर पर उमा भारती ने ट्वीट कर कहा- ‘महिलाओं को सुरक्षा की गारंटी देने वाली यह सबसे बड़ी घटना’

नई दिल्ली | तेलंगाना में महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ गैंगरेप कर जिंदा जला देने की घटना के चार आरोपियों को एनकाउंटर में मार गिराए जाने की घटना की पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने शुक्रवार को सराहना की है। उनका कहना है कि त्वरित न्याय दिलाने का यही एकमात्र विकल्प था। उमा भारती ने इस मसले पर कई ट्वीट किए। उमा भारती ने एक के बाद एक लगातार कई ट्वीट कर कहा, ”मैं अभी हिमालय उत्तराखंड में गंगा किनारे हूं, तेलंगाना में महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ दुराचरण के बाद हत्या किए जाने की घटना से मैं बहुत दुखी एवं क्षुब्ध थी। किंतु अभी सवेरे मैंने समाचार सुना कि सीन रिक्रिएट करने के दरम्यान भागने की कोशिश में चारों अपराधी पुलिस एनकाउंटर में मारे गए।

इस सदी के 19वें साल में महिलाओं को सुरक्षा की गारंटी देने वाली यह सबसे बड़ी घटना है। इस घटना को अंजाम देने वाले सभी पुलिस अधिकारी एवं पुलिसकर्मी अभिनंदन के पात्र हैं। मैं अब विश्वास कर सकती हूं कि दूसरे राज्यों के शासन में बैठे हुए लोग अपराधियों को तत्काल सबक सिखाने के रास्ते निकालेंगे। जिस घर की बेटी निर्दयता की शिकार होकर दुनिया से चली गई उस परिवार का दुःख कभी कम नहीं होगा, किंतु उस बहन की आत्मा को शांति मिलेगी तथा भारत की अन्य लड़कियों के मन का भय कुछ कम होगा। जय तेलंगाना पुलिस।”

गौरतलब है कि हैदराबाद में 25 वर्षीय वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप और हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए चार आरोपी शुक्रवार सुबह पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे गए। चारों आरोपियों की आयु 20 से 24 वर्ष थी। उनमें से एक लॉरी चालक था और बाकी हेल्पर थे। उन्हें 29 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था। आरोपियों ने गैंगरेप के बाद डॉक्टर की गला दबाकर हत्या कर दी थी और बाद में शव को जला दिया था। आरोपियों को सात दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया था।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि घटना सुबह साढ़े छह बजे की है। जांच के लिए पुलिस आरोपियों को क्राइम सीन रिक्रिएट करने के लिए घटनास्थल पर ले गई थी। तभी आरोपी ने पुलिस से हथियार छीने और पुलिस पर गोलियां चलाईं। आरोपियों ने भागने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस ने जवाब में गोलियां चलाईं। इस दौरान चारों आरोपी मारे गए। अधिकारी ने बताया कि इस घटना में दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।