नोएडा ट्रैफिक पुलिस ने बाईक का ‘सीट बेल्ट’ में काटा चालान, सपा छात्र नेता बोले- ‘मनमानी की DGP से करेंगे शिकायत’

लखनऊ । प्रदेश में ट्रैफ़िक पुलिस वैसे तो वाहन चेकिंग के नाम पर नियम और कायदे क़ानून की दुहाई देती है लेकिन यही पुलिस आम लोगों का उत्पीड़न भी कर रही है । मामला अलीगढ़ से जुड़ा है जहाँ नोएडा ट्रैफ़िक पुलिस ने बाइक सवार का सीट बेल्ट न होने का हवाला देते हुए चालान कर दिया जैसे ही बाइक मालिक के घर चालान पहुँचा तो उसके होश उड़ गए । 25 मार्च 219 को उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर में काटे गए चालान में ट्रैफिक पुलिस ने दिखाया है कि सीट बेल्ट के बिना चालान किया गया है जबकि नंबर बाइक का है ।

हैरानी की बात यह है कि CM योगी ने वाहन चेकिंग के नाम पर जनता के उत्पीड़न न करने के आदेश दे रखे हैं इसके बावजूद ट्रैफ़िक पुलिस मनमानी पर उतारू है । पीड़ित मोहम्मद सलमान अब अदालत के चक्कर काट रहा है और अफ़सोस में हैं । आला अफसरों को शिकायत करने की तैयारी में है । अब देखना यह है कि ट्रैफ़िक पुलिस के आला अधिकारी इस गलती पर क्या रुख़ अपनाते हैं ।

वहीं समाजवादी पार्टी के छात्र नेता मुन्तज़िम किदवई ने बाइक के नंबर पर कार का चालान काटने के मामले को योगी सरकार की तानाशाही क़रार दिया है । उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में तानाशाही चल रही है, ट्रैफ़िक पुलिस हो या नागरिक पुलिस सब मनमानी पर उतारू हैं । उन्होंने गौतम बुद्ध नगर की ट्रैफ़िक पुलिस की बाइक के नंबर पर सीट बेल्ट का चालान काटने की कड़े शब्दों में भर्त्सना की है साथ ही छात्र नेता ने मामले की शिकायत उत्तर प्रदेश के DGP से करने की बात कही है ।