पीएम की सुरक्षा में हुई चूक का वीडियो एक साल पहले ही हो गया था तैयार, जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 जनवरी को पंजाब के फिरोजपुर में थे जहां उनकी सुरक्षा में एक बड़ी चूक हुई। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर बवाल मचा हुआ है। इन सबके बीच सोशल मीडिया पर एक एनीमेटेड वीडियो खूब वायरल हो रहा है। यह एनीमेटेड वीडियो करीब एक साल पुराना है। इस वीडियो में यह दिखाया जा रहा है कि कैसे फ्लाईओवर पर नाराज किसान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेर रहे हैं। वीडियो में साफ तौर पर दिखाई पड़ रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला किसानों के द्वारा घेरा जा रहा है। किसान अपने ट्रैक्टर से आए हैं।

यह वीडियो यूट्यूब पर धक्का गेमिंग चैनल पर अपलोड किया गया है। वीडियो को देखने के बाद सबसे बड़ा सवाल तो यही है कि आखिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक का वीडियो 1 साल पहले ही कैसे तैयार कर लिया गया था? यही कारण है कि सवाल यह उठ रहे हैं कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने की प्लानिंग काफी पहले कर ली गई थी? क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक में पुलिस भी शामिल है? इसके साथ ही पंजाब सरकार पर भी सवाल उठ रहे हैं। इस वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले को फ्लाईओवर पर एक तरफ से आते दिखाया गया है जबकि दूसरी तरफ से किसानों का काफिला रहा है। किसानों के काफिले में किसान ट्रैक्टर पर सवार होकर आते हैं और प्रधानमंत्री का रास्ता रोक रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: सूरक्षा चूक: केन्द्र की जांच समिति फिरोजपुर पहुंची, पंजाब सरकार ने केन्द्र को सौंपी रिपोर्ट
वीडियो में यह भी दिखाया गया है कि किसानों को आते देख प्रधानमंत्री गाड़ी से नीचे उतर जाते हैं। सभी प्रदर्शनकारी उनकी तरफ दौड़ते हैं जिससे डरकर वह भागने लगते हैं। तभी ट्रैक्टर से प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री का मार्ग रोक लेते हैं और वह फिर दूसरी तरफ से जाते हैं जहां फिर से उनका रास्ता रोका जाता है। एनीमेटेड वीडियो में जो किसानों को दिखाया गया है वह लाठी-डंडों से पूरी तरह लैस होकर आए हैं। यह वीडियो यूट्यूब चैनल पर 6 दिसंबर 2020 को अपलोड किया गया। इसमें ‘किसान’ ट्रैक्टर लेकर बैरिकेड को रौंदते नजर आते हैं। इन ट्रैक्टर पर ‘किसान एकता जिंदाबाद’ लिखा होता है।

वीडियो को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुरक्षा में हाल में ही हुई चूक से जोड़ा जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पंजाब में एक फ्लाईओवर पर फंस गए थे। आगे से किसानों ने उनके काफिले को रोक लिया था जिसकी वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला लगभग 20 मिनट तक पंजाब के फ्लाईओवर पर फंसा रहा। यही कारण है कि सब सवाल पूछा जा रहा है कि आखिर 1 साल पहले ही इस तरह का वीडियो कैसे तैयार कर लिया गया था? भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए लिखा कि यूट्यूब पर एक साल पहले ये एनिमेटेड वीडियो खालिस्तानियों द्वारा डाला गया। इसमें मोदी जी को फ्लाईओवर के ऊपर नकली किसानों द्वारा रोककर, घेरकर मारने की कोशिश की जाती हैं। जैसा इस वीडियो में हैं, हूबहू वैसे ही पंजाब में करने की कोशिश की गई।