‘पश्चिम में बीजेपी का सूरज हमेशा के लिए डूब जाएगा’ अखिलेश-जयंत की योगी को ललकार

मेरठ। सपा-आरएलडी की पहली संयुक्त रैली में अखिलेश और जयंत ने योगी सरकार जमकर हमला बोला। अखिलेश यादव ने कहा कि जनसैलाब देखकर कहता हूं कि 2022 में बीजेपी का सूरज डूब जाएगा। जयंत चौधरी ने भी योगी सरकार पर तंज किया और ऐलान किया कि अगर सरकार बनी तो मेरठ में शहीद किसानों का स्मारक बनवाया जाएगा।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव और आरएलडी अध्यक्ष जयंत चौधरी के बीच गठबंधन का आधिकारिक ऐलान हो गया है। मेरठ में संयुक्त रैली के दौरान दोनों नेताओं ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। अखिलेश यादव ने योगी सरकार को ललकारते हुए कहा कि इस बार पश्चिम में बीजेपी का सूरज हमेशा के लिए डूब जाएगा। अखिलेश ने कहा कि इस बार किसानों का इंकलाब होगा और 22 में बदलाव होगा। जयंत चौधरी ने ऐलान किया कि सरकार बनने पर मेरठ में शहीद किसानों का स्मारक बनवाया जाएगा।

जयंत चौधरी ने रैली में कहा, ‘किसानों ने बड़ी लड़ाई लड़ी और शायद पहली बार मोदी जी को झुकाने का काम किया लेकिन बहुत बड़ी कुर्बानी दी। हम भूल नहीं सकते कि किस तरह लखीमपुर में किसानों को रौंदा गया था। 700 से ज्यादा किसान शहीद हो गए। इसलिए मैं वादा करना चाहता हूं कि इस क्रांति धरती पर, हम और अखिलेश साथ चल रहे हैं। हमारे गठबंधन का ऐलान हो गया। ये डबल इंजन की सरकार हम देंगे। जब हमारी सरकार बनेगी तब हम पहला काम करेंगे कि मेरठ में शहीद किसानों की स्मृति में एक स्मारक बनाएंगे।’

जयंत चौधरी ने अपने भाषण में कहा, ‘डबल इंजन की सरकार का हाल देखिए। बिजनौर में नई सड़क का उद्घाटन करते हुए विधायक नारियल फोड़ते हैं, सड़क टूट जाती है। अखिलेश जी ने एक्सप्रेसवे बनवाए, ये इंजीनियर की बात समझते हैं, ये विज्ञान की बात समझते हैं। बाबा जी बाबा जी को गुस्सा बहुत आता है। मैंने उन्हें हंसते नहीं देखा। वह तभी खुश नजर आते हैं जब बछड़ों के बीच होते हैं। इस बार उन्हें फ्री कर दो ताकि गोरखपुर में 24 घंटे बछड़ों के साथ खेलें।’

जयंत चौधरी ने सबसे पहले अपने संबोधन की शुरुआत की। रैली में जयंत ने एक किस्सा सुनाते हुए कहा, ‘कुछ दिन पहले मेरठ में एक चोर पकड़ा गया। उसकी गाड़ी में बीजेपी का झंडा लगा था। उसे सजा के तौर पर दो विकल्प रखे गए या तो 100 प्याज खा लो या 100 जूते। उसने सोचा प्याज खा लेता हूं। 30-40 प्याज खाए तो आंसू निकल आए। फिर उसने कहा कि प्याज बहुत हो गया, जूते दे दो। फिर थोड़े जूते खाए तो कहा कि चोट लग रही है, प्याज खिला दो। ऐसा ही कुछ हाल केंद्र सरकार बीजेपी का भी हो रहा है। 100 प्याज भी खा लिए, 100 जूते भी। दाढ़ी भी बनवानी पड़ गई।’