झगड़ा सुलझाने गये सिपाही का दंपति ने कान ही काट डाला

लखनऊ। लखनऊ के ठाकुरगंज में बुधवार रात दो पक्षों के झगड़े की सूचना पर पहुंची पुलिस व होमगार्ड को स्थानीय लोगों ने ही घेर लिया। विरोध करने पर एक दंपति ने सिपाही का कान दांत से काटकर अलग कर दिया। सिपाही ने थाने से मदद मांगी पर देर तक पुलिस नहीं पहुंची। किसी तरह सिपाही भीड़ के बीच से निकल कर थाने पहुंचा।

इसके बाद ही यहां से पुलिस मौके पर गई। इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। 11 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं स्थानीय लोगों का आरोप है कि सिपाही ने मौके पर पहुंचते ही दोनों पक्षों को गालियां देना शुरू कर दिया था। इससे ही नाराज होकर स्थानीय लोगों ने सिपाही को घेर लिया था।

एसीपी चौक आईपी सिंह के मुताबिक यूपी-112 पर बुधवार रात को हुसैनबाड़ी में मारपीट की सूचना मिली थी। इस पर कुछ दूरी पर ही मौजूद सिपाही राहुल श्रीवास्तव होमगार्ड नितिन त्रिपाठी के साथ मौके पर पहुंचे। यहां दो पक्ष मारपीट करते दिखे। होमगार्ड नितिन ने बताया कि कमलेश यादव, उसकी पत्नी का दूसरे पक्ष के शैलेंद्र सिंह से झगड़ा हो गया था। दोनों पक्ष से कई लोग जुटे हुये थे।

इसी दौरान कमलेश धारदार हथियार लेकर निकला तो सिपाही राहुल ने उससे हथियार छीन कर फेंक दिया। इस पर कमलेश और उसकी पत्नी नीतू ने राहुल को जमीन पर गिरा दिया। फिर दोनों ही पक्ष उसे पीटने लगे। इस दौरान कमलेश व उसकी पत्नी ने राहुल का कान दांत से काट डाला। कान का कुछ हिस्सा अलग हो गया। राहुल दर्द से छटपटा उठा।

राहुल को लहूलुहान देख होमगार्ड ने ठाकुरगंज थाने में सूचना देकर मदद मांगी। पर, थाने से काफी देर तक कोई पुलिसकर्मी नहीं पहुंचा। इस पर दोनों लोग भीड़ से खुद को किसी तरह छुड़ा कर थाने पहुंचे। इसके बाद ही राहुल को अस्पताल भिजवाया गया। साथ ही फोर्स मौके पर पहुंची। इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया।

हंगामे में शामिल अन्य लोगों की पहचान की जा रही है। एसीपी आईपी सिंह का कहना है कि देर रात की घटना होने की वजह से जब थाने पर सूचना गई तो तुरंत ही फोर्स को पहुंचने को कहा गया था। कुछ दूरी पर होने की वजह से पुलिसकर्मियों को पहुंचने में थोड़ी देर हो गई थी।

स्थानीय लोगों का आरोप है कि सिपाही और होमगार्ड ने मौके पर पहुंचते ही दोनों पक्षों को गालियां देना शुरू कर दिया था। इस पर ही दोनों पक्ष अपनी मारपीट छोड़ कर पुलिस से भिड़ गये थे। इससे सिपाही और नाराज होकर महिलाओं को अपशब्द कहने लगा था। इस वजह से ही लोगों ने उस पर हमला कर दिया था।