राजस्थान में हालात बेहद गंभीर, कोरोना से लड़ने के लिए लगाई गई पाबंदी : अशोक गहलोत

जयपुर | राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राज्य में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां कोरोना महामारी से निजात पाने के लिए लगाई गई हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हालात बेहद चिंताजनक और खतरनाक हैं, लेकिन श्रमिकों सहित लोगों को इससे आतंकित होने की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हालत की समीक्षा के बाद ही पाबंदी लगाने का फैसला लिया गया है। रविवार रात से नया दिशानिर्देश लागू हो गया है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमितों की संख्या में बेतहाशा वृद्धि और उससे मौत के कारण यह फैसला लिया गया है।

बता दें, राजस्थान में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए गहलोत सरकार ने आज यानी 19 अप्रैल से 3 मई तक के लिए लॉकडाउन लगा दिया है। गहलोत सरकार ने इस लॉकडाउन को ‘जन अनुशासन पखवाड़ा’ नाम दिया है। लॉकडाउन के दौरान जरूरी सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी सेवाएं बंद रहेंगी।

राजस्थान में कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि जारी है, इस पर ब्रेक लगाने के लिए राजस्थान के सरकार ने 15 दिन यानी 19 अप्रैल से 03 मई तक के लिए राज्य में लॉकडाउन लगा दिया है। इस दौरान, जरूरी सेवाओं को छोड़ सभी सरकारी दफ्तर बंद रहेंगे। बाजार, मॉल, सिनेमाघर और रेस्तरां बंद रहेंगे। वहीं होम डिलीवरी के लिए छूट रहेगी। मजदूरों का पलायन न हो इसलिए कंस्ट्रक्शन वर्क जारी रहेगा। इंडस्ट्रीज को भी लाकडाउन से छूट दी गई है।