जिस गाड़ी में सपा का झंडा, समझो होगा कोई जानामाना गुंडा : योगी आदित्यनाथ

आजमगढ़ | आजमगढ़ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी समेत पूरे विपक्ष पर जमकर बरसे। सगड़ी में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में तो अराजकता ही उनका पर्याय था। देश में एक नारा चल पड़ा था कि ‘जिस गाड़ी में सपा का झंडा समझो होगा कोई जाना पहचाना गुंडा’। इस गुंडागर्दी की कमर तोड़ने का कार्य कोई किया है तो वह हमारी सरकार ने किया है।

सीएम योगी ने कहा कि कुछ लोगों ने बाबा साहब भीमराव आंबेडकर के नाम पर राजनीति तो की लेकिन जब भी अनुसूचित लोगों व गरीबों की बात होती थी, उनपर अत्याचार होते थे तो वो मौन साध लेते थे। याद करिए जब सपा की सरकार थी तब रामपुर में उस समय समाजवादी पार्टी के नेता और मंत्री आजम खां द्वारा गरीबों व अनुसूचित लोगों के घर उजाड़े जाते थे। उस वक्त कांग्रेस और बसपा मौन थी। तब केवल भारतीय जनता पार्टी आंदोलन कर रही थी।  सीएम योगी को सुनने के लिए  सगड़ी विधानसभा स्थित जूनियर विद्यालय के मैदान में भारी संख्या में भीड़ उमड़ी। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि समाजवादी पार्टी सत्ता में आने के बाद गरीबों, दलितों व व्यापारियों को सता रहे थे। आजमगढ़ इसका भुक्तभोगी था। यहां के लोग यहां से बाहर जाते थे तो उन्हें किसी धर्मशाला में कमरा नहीं मिलता था। आजमगढ़ का नाम सुनते ही होटलों में कमरे नहीं मिलते थे। यह संकट उन्होंने ही खड़ा किया था, जिन्होंने कोरोना काल में यहां की जनता को लावारिस छोड़ दिया था। कोरोना काल में हम आजमगढ़ में तीन बार आए थे। यहां की मेडिकल व्यवस्था समेत अन्य सुविधाओं की पड़ताल किए कि लोगों को मिल रहा है कि नहीं। भाजपा के पदाधिकारी व कार्यकर्ता सेवा के कार्य में जुटे थे। लेकिन आजमगढ़ के सांसद नदारद थे। उनका कहीं पता ही नहीं था। पहली लहर में मैंने पूछा कि आजमगढ़ के सांसद कहां है, तो पता चला कि इंग्लैंड गए। जब दूसरी लहर आई तब पता किया तो पता चला कि वो ऑस्ट्रेलिया गए हैं। आजमगढ़ के लोगों ने उन्हें आस्ट्रेलिया व इंग्लैड जाने के लिए तो नहीं चुना था। सीएम योगी ने कहा कि कोरोना वैक्सीन सुरक्षा का कवच बना है। यहां के सांसद उसका विरोध किए थे। कहा था कि यह वैक्सीन मोदी वैक्सीन है। बीजेपी वैक्सीन है। उनसे भी पूछो, अब्बा जान लगवा चुके हैं। अब तो आप भी लगवा ही लो क्योंकि अब एक नया वैरिएंट आ गया है। वैक्सीन लग जाएगी तो कुछ सच बोलने की आदत आ जाएगी। नहीं तो झूठ पर झूठ बोलकर जैसे आजमगढ़ के लोगों को धोखा दे रहे थे वैसे ही प्रदेश के लोगों को धोखा दे रहे थे। 

आजमगढ़ में मुलायाम सिंह भी सांसद थे। सरकार उनकी थी लेकिन विश्वविद्यालय नहीं दे सके। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, एयरपोर्ट भी नहीं बन पाया था। सब काम सैफई में होने थे। आजमगढ़ का विकास कहां होना था। आजमगढ़ के लिए पेशेवर को अपने सिर पर लेकर घूमते थे।इसी आजमगढ़ को भी हमने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे व गोरखपुर एक्सप्रेस-वे भी दिया है। वाराणसी को भी कनेक्टविटी की स्वीकृति दी है। महाराजा सुहेलदेव के नाम से विश्वविद्यालय हमारी सरकार बनवा रही है।