टेरर फंडिंग को लेकर NIA हुआ सख्त, दो नेताओं को बुलाया पूछताछ के लिये

नई दिल्ली। कश्मीर घाटी में जारी हिंसा के बीच राष्ट्रीय जांच एजेंसी NIA ने दो कश्मीरी अलगाववादी नेताओं को समन जारी कर दिल्ली आने के लिये कहा है। इन दोनों पर कश्मीर में टेरर फंडिंग का आरोप है। जिन दो अलगाववादी नेतोओं को समन जारी किया गया है वो तहरीक-ए-हुर्रियत के फारूक अहमद डार और जावेद अहमद बाबा हैं। दोनों को NIA बैंक और संपत्ति के दस्तावेज लेकर दिल्ली आने को कहा है। इसके अलावा सबजार बट को सेना द्वारा मारे जाने के बाद घाटी में जारी हिंसा को देखते हुए पुलिस ने अलगाववादी नेता यासीन मलिक को गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें लाल चौक के पास मैसुमा स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया गया। आपको बता दे कि 26/11 आतंकवादी हमले के बाद गठित केंद्रीय जांच एजेंसी ने पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा प्रमुख हाफिज सईद, हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के कट्टरपंथी धड़े के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी और जम्मू और नैशनल फ्रंट के अध्यक्ष नईम खान का नाम शुरुआती जांच में दर्ज किया है। अब दोनों से दिल्ली में कश्मीर में आतंकवाद को फंड करने के सिलसिले में पूछताछ होगी। इसके अलावा कश्मीर में आतंकवाद के वित्त पोषण और घाटी में अशांति फैलाने और पथराव करने के लिए हवाला और अन्य माध्यम से फंडिंग लेने, एकत्र करने और उसे दूसरी जगह भेजने में कथित संलिप्तता को लेकर इन दोनों से पूछताछ की जाएगी।