AMU में तनावपूर्ण शांति, पुलिस पर हमला करने वालों पर शिकंजा, 6 नामजद छात्रों सहित सैंकड़ों अज्ञात पर FIR

अलीगढ | छात्र द्वारा हॉस्टल में आत्महत्या के मामले में छात्रों और पुलिस के बीच टकराव के बाद हालात सामान्य हैं | संस्थापक सर सैय्यद की जयंती होने के कारण अमुवि में विशेष सतर्कता है, कैंपस के चरों और पुलिस फ़ोर्स तैनात किया गया है | एसपी सिटी के गाडी पर हमला करने वालों और पुलिस से मारपीट करने वालों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया गया है |

पुलिस गुनहगारों की खोज पुलिस ने शुरू कर दी है। इसके लिए कैंपस के सीसीटीवी तो देखे ही जा रहे हैं, वहीं जिन छात्रों को नामजद किया गया है, उनके विषय में एएमयू से पूरा ब्योरा तलब किया गया है | पुलिस ने एएमयू छात्र मो.उमर फारुख , तालिब, मो.इमरान, कामरान, सलमान, फरान जुबैरी सहित 100-150 अज्ञात आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है

एसपी सिटी को दरोगा ने बचाया, हमराह सिपाही की पिटाई
सुसाइड के बाद प्रॉक्टर टीम व पुलिस के देरी से पहुंचने और वीसी के मौके पर न आने से नाराज छात्र जब आफताब हॉल के मुमताज हॉस्टल के कमरा नंबर 22 के बाहर हंगामा कर रहे थे, तभी एसपी सिटी अभिषेक वहां पहुंच गए थे। पुलिस की ओर से दर्ज मुकदमे पर गौर करें तो इसी दौरान नाराज छात्रों की एसपी सिटी से बहस हो गई। इसी बीच छात्रों ने उनकी सरकारी गाड़ी पर पीछे से पथराव कर शीश तोड़ दिया और खुद एसपी सिटी संग मारपीट की कोशिश की। वह तो हमराह सिपाही दीमान सिंह और दरोगा उमेश कुमार ने उन्हें बचाकर वहां से हटाया।

इस दौरान हमराह सिपाही दीमान सिंह संग छात्रों ने मारपीट कर दी। इस घटना में नामजद किए गए मो.उमर फारुख, तालिब, मो.इमरान, कामरान, सलमान, फरान जुबैरी सभी एएमयू छात्र हैं और 100-150 अज्ञात आरोपी हैं। इन सभी के मूल पते व अज्ञातों के नाम पते जानने के लिए सीसीटीवी का ब्योरा एएमयू से मांगा गया है