तेजस्वी का भाजपा पर तंज-“मिश्रा” को बेल और यादव को “जेल”, कैसी विडंबना है साहिब?

पटना। लालू यादव को दोषी करार दिये जाने पर तेजस्‍वी यादव ने ट्वीट कर कार्यकर्ताओं से शांति बनाये रखने की अपील की। साथ ही कहा कि हमारी जीत होगी और जरूर होगी। वहीं तेजप्रताप यादव ने कहा कि कहा कि काश! लालू प्रसाद “यादव” भी लालू प्रसाद “मिश्रा” होते। मामला एक हीं पर “मिश्रा” को बेल और यादव को “जेल”.. कैसी विडंबना है साहिब?

तेजस्‍वी ने ट्वीट किया, सभी पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं कि वो शांति बनाए रखते हुए न्यायालय के फ़ैसले का सम्मान करें। सत्य को कोई नहीं हरा सकता। हमारी जीत होगी और ज़रूर होगी। अपना प्रेम और विश्वास बनाए रखें। जय बिहार, जय हिंद। तेजस्‍वी ने एक और ट्वीट किया, लालू जी जिस वर्ण और गरीबी में पैदा हुए और जिस संघर्ष के दम पर सत्ता के स्थापित गलियारों को अपने दमख़म से हिलाया, वहीं सबसे बड़ा घोटाला है। उसी की सज़ा भुगत रहे है। समझें! वहीं, लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने चारा घोटाला के फैसले पर ट्वीट कर कहा कि सारा सिस्टम, सारी सरकारी मशीनरी और कॉर्पोरेट लालू यादव के पीछे हाथ धोकर पड़े हैं। न्यायपालिका से लेकर कार्यपालिका तक, सड़क से लेकर संसद तक अगर ध्यान से देखा जाए तो लालू यादव को खलनायक साबित करने के लिए विरोधियों में गलाकाट प्रतियोगिता चल रही है। याद रखें, लालू नाम नहीं विचारधारा है।

तेजप्रताप ने एक अन्‍य ट्वीट में कहा कि मामला एक हीं, पर “मिश्रा” को बेल और यादव को “जेल”। कैसी विडंबना है साहिब? काश! लालू प्रसाद “यादव” भी लालू प्रसाद “मिश्रा” होते। बता दें कि देवघर कोषागार से 89.4 लाख रुपये अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाले के मामले में सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत ने शनिवार की अपराह्न करीब 3.50 में अपना फैसला सुना दिया। अदालत ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद को दोषी करार दिया। इस फैसले से लालू व उनके समर्थकों को करारा झटका लगा है। सजा सुनाये जाने के दौरान तेजस्‍वी भी अपने पिता के साथ रांची में मौजूद रहे।