CAA हिंसा में मारे गए तारिक का परिवार बना शांतिदूत, अलीगढ में अमन के लिए DIG ने जताया आभार

अलीगढ | डीआईजी डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने #तारिक की मौत के बाद बने हालात को लेकर तारिक के पिता मुनव्वर और परिवार के सहयोग को शहर के अमन में सबसे बड़ा सहायक बताया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए #पुलिस प्रशासन परिवार का आभारी है। उनके सहयोग ने #शहर में अमन कायम रखने में सबसे बड़ी मदद की है।

डीआईजी ने कहा कि पूरे मामले से शासन को अवगत कराया गया है। अभी शहर में फोर्स की तैनाती बरकरार रहेगी और खुराफातियों को किसी तरह का मौका नहीं दिया जाएगा। धीरे-धीरे शहर के हालात सुधरने पर फोर्स को हटाया जाएगा। डीआईजी ने बताया कि शुक्रवार रात हुए घटनाक्रम के बाद लगातार अधिकारियों के साथ मिलकर वह शहर में अमन को लेकर प्रयासरत रहे। शासन स्तर पर डीजीपी व अन्य अधिकारियों से कोआर्डिनेट कर रहे थे। इस दौरान रात भर के प्रयास के बाद जो संभव हुआ है, उसमें तारिक के परिवार का सहयोग रहा है।

मृतक तारिक के पिता मुनव्वर खान ने कहा कि विनय वार्ष्णेय के अलावा अन्य दोषियों की गिरफ्तारी होनी चाहिए। साथ ही इन पर एनएसए भी प्रशासन लगाए। एसएसपी से मिलने मुनव्वर खान गए थे। इनके साथ अन्य लोग भी थे। मांग की गई कि खटीकान मोहल्ले में गौरव के परिजनों को जिस तरह से मुआवजा दिया गया था, वैसे ही तारिक के परिजनों को दिया जाए। साथ ही एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाए।