सरकार पत्रकार विक्रम जोशी के परिजनों को दे 1 करोड़ का मुआवजा : उपजा

लखनऊ। नेशनल यूनियन आफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया) व उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन(उपजा) ने गाजियाबाद के वरिष्ठ पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या को दुखद बताते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए प्रदेश सरकार से पीड़ित परिवार को दस लाख की जगह एक करोड़ रुपये मुआवजा, एक सदस्य को सरकारी नौकरी व पीड़ित परिवार को सुरक्षा देने की मांग की है। नेशनल यूनियन आफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया) के राष्ट्रीय सचिव व उoप्रoजर्नलिस्ट्स एसोसिएशन(उपजा) के प्रान्तीय महामंत्री प्रदीप शर्मा ने कहा कि प्रदेश…

Read More

लोकसभा टीवी के वरिष्ठ पत्रकार अनुराग पुनेठा के पिता का निधन, मीडिया जगत में शोक की लहर

मथुरा | लोकसभा टीवी के वरिष्ठ पत्रकार अनुराग पुनेठा के पिता राजेन्द्र पुनेठा का निधन हृदय गति रुक जाने से गाजियाबाद में हो गया। पुलिस विभाग से सेवानिवृत्त होने के बाद राजेन्द्र पुनेठा गाजियाबाद में ही अनुराग पुनेठा के पास रह रहे थे। वरिष्ठ पत्रकार अनुराग पुनेठा की तीन पीढ़ियों का मथुरा से गहरा नाता रहा है। मूलरूप से उत्तराखंड निवासी अनुराग पुनेठा के दादा जीडी पुनेठा मथुरा के मशहूर शिक्षण संस्थान चम्पा अग्रवाल इंटर कॉलेज में इंग्लिश के…

Read More

अर्णब गोस्वामी पर हमले की NUJI और उपजा ने की कड़ी निंदा

नई दिल्ली। नेशनल यूनियन आफ जर्नलिस्टस इंडिया, दिल्ली जर्नलिस्टस एसोसिएशन व उ0प्र० जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन ने वरिष्ठ टीवी पत्रकार अर्णब गोस्वामी पर हुए हमले पर गहरी चिंता प्रकट की है। पत्रकार संगठनों ने कहा है कि पत्रकारों पर हमला लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की आजादी के लिए गंभीर खतरा है इसलिए ट्रिपल रिपब्लिक टीवी के संस्थापक अर्णब गोस्वामी पर हमला करने वाले व करवाने वालों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। पत्रकार संगठनों ने अपनी इस मांग को भी…

Read More

NUJ और उपजा ने की सोनिया गांधी की निंदा, केंद्र और राज्य सरकारों से की पत्रकारों के लिए ये बड़ी मांग-

नई दिल्ली । नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया) के राष्ट्रीय सचिव व उoप्रoजर्नलिस्ट्स एसोसिएशन के प्रान्तीय महामंत्री प्रदीप शर्मा ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दो साल तक सरकारी विज्ञापनों पर रोक लगाये जाने वाले बयान की कठोर शब्दों में निंदा करते हुए कहा है कि कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण मीडिया जगत को पहले ही भारी नुकसान पहुंचा है। पहले से ही आर्थिक संकट झेल रहे छोटे व मझोले समाचार पत्रों को विज्ञापन न मिलने के कारण…

Read More