पढ़िए देश को आईना दिखाता तनवीर का यह आर्टिकल- कश्मीर वह नहीं है, जो मीडिया हमें दिखाता है !

आज कल के तनाव को देखते हुए ऐसा लगता है की मैं कश्मीर से सही समय पे निकल आया. मगर सवाल केवल मेरा नहीं है, देश के एक ऐसे भाग का है जो की भारत के सर का मुकुट है. बहुत से लोग कश्मीर को भारत का अंग नहीं मानते हैं. वह लोग ग़लतफ़हमी में हैं. कश्मीर का फैसला अक्टूबर १९४७ में ही हो गया था, जब वहां के महाराजा ने भारत के साथ संधि पे हस्त्याक्षर किये थे….

Read More