वो दिन दूर नहीं जब हम अपनी आंखों से देश का विनाश होते देखेंगे, कोरोना महामारी पर पढ़िए प्रियंका शर्मा एडवोकेट का यह आर्टिकल-

दुखद : आज हम फिर से एक बार और लॉकडाउन जैसे हालातों में पहुंच गए है, क्या हम फिर से इसके लिए तैयार है?? अगर है तो कितना ? यदि किसी को लगता है कि लॉकडाउन लगाने से कोरोना खत्म हो जाएगा तो जरा दिल्ली बॉर्डर, मुंबई से लाखों की संख्या में मजदूरों का पलायन देखना चाहिए, जिस तरह लॉकडाउन की घोषणा से और घोषणा से पहले से लाखों लोग मुंबई, दिल्ली व अन्य जगहों को छोड़ भाग रहे…

Read More