इलाहाबाद: सूखे की संभावना के मद्देनजर जिलाधिकारी ने सिंचाई संसाधनों को दुरूस्त करने के किये इंतजाम

शशांक मिश्रा/इलाहाबाद| जिलाधिकारी  संजय कुमार ने जनपद में बढ़ रही सूखे की सम्भावना के मद्देनजर सम्बन्धित अधिकारियों तथा
सिचाई विभाग से सम्बन्धित अमले को कड़ाई के साथ सजग किया है। जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये है कि गंगापार व यमुनापार के सभी क्षेत्रों में वे ब्लाकवार हर गांव के किसानों से स्वयं जाकर सम्पर्क करें तथा उनकी सिंचाई सम्बन्धी समस्याओँ एवं मांगों को एकत्र करके दो दिन के भीतर उनके सन्मुख रखें। यह निर्देश जिलाधिकारी ने अपने कार्यालय में देर शाम अधिशाषी अभियन्ता बाढ़ प्रखण्ड के अधिकारियों और सभी क्षेत्रों के लिफ्ट कैनाल संचालको को अपने कार्यालय में बुलाकर कही।

जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को यह निर्देशित किया कि वे संबधित बीडीओ के माधयम से हर ब्लाक के काश्तकारों से मिलकर क्षेत्रीय समस्याओं का एवं सिचाई संसाधनों के वास्तविक हाल का परीक्षण अपनी देखरेख में दो दिन के भीतर सम्पन्न कराये नहरों में पानी की कमी का त्वरित समाधान कराने के लिए सिरसी बंधे से पानी छोड़ने के लिए उसी समय मुख्य अभियन्ता से फोन पर बात की तथा जिलाधिकारी मिर्जापुर से भी इस कार्य में तत्काल सहयोग मांगा, ताकि इलाहाबाद के किसानों को खासकर उपरोक्त क्षेत्र में सूखे की सम्भावना से निपटा जा सके। उन्होंने समीक्षा में सिचाई विभाग के अधिकारियों तथा सभी नहरों के  लिफ्ट कैनाल संचालको से अलग-अलग बात की तथा उन्हें निर्देशित किया कि पानी के स्तर वे कडाई से नजर रखे तथा उन्हें निरन्तर सूचित करते रहे।
जिलाधिकारी ने दारागंज क्षेत्र के बंधे से मेला क्षेत्र तक समस्त प्रकार के अतिक्रमण तत्काल हटा देने का निर्देश भी कडाई के साथ दिया है। इसके लिए उन्होंने अधिशाषी अभियन्ता बाढ़ को नोडल अधिकारी बनाते हुए एसीएम प्रथम, सिटी मजिस्ट्रेट, एडीएसए तथा नगर निगम के अधिकारियों की एक समिति गठित कर दी है जो इस क्षेत्र के अतिक्रमण की निरंतर समीक्षा करती रहेगी तथा उसकी साप्ताहिक प्रगति से जिलाधिकारी को फोटो के साथ अवगत कराती रहेगी। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को यह निर्देशित किया कि  मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार इलाहाबाद में दिव्य एवं भव्य कुम्भ का आयोजन किया जाना उनका लक्ष्य है तथा इसके लिए सभी अधिकारियों को मेला क्षेत्र से अतिक्रमण हटाने के लिए सर्तक रहना होगा !आज बैठक में आगामी दशहरा त्यौहार के लिए दुर्गापूजा की मूर्ति विर्सजन व्यवस्था का भी जायजा लिया तथा निर्देश दिये कि नगरीय क्षेत्र में सभी एसीएम सड़कों को 21 सितम्बर तक गढ्ढा मुक्त कर लें तथा अपने क्षेत्र में सभी एसडीएम मूर्ति स्थापना तथा दशहरे के आयोजन स्थलों पर कानून व्यवस्था तथा अन्य सुविधाओँ के लिये सजग रहें।