विधानसभा चुनाव 2022: मंत्री पद से इस्तीफे के बाद सपा में जाने की अटकलें, स्वामी प्रसाद मौर्य ने बोलै- अभी अखिलेश से होगी बात

लखनऊ। कैबिनेट मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि मुझे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा किसी से भी शिकायत नहीं है। मैं मुद्दों और नीतियों को लेकर राजनीति करता हूं। भाजपा के इन बड़े नेताओं के सानिध्य में सम्मान और स्नेह मिला है।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा देकर हलचल मचा दी है। वह सपा में जा रहे हैं या नहीं इस पर उन्होंने साफ-साफ कुछ नहीं कहा है। उन्होंने कहा कि अभी अखिलेश यादव से इस पर बात होनी है। हालांकि, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की तरफ से किए गए ट्वीट में वे कहा गया है कि सामाजिक न्याय और समता-समानता की लड़ाई लड़ने वाले लोकप्रिय नेता स्वामी प्रसाद मौर्य एवं उनके साथ आने वाले अन्य सभी नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों का सपा में ससम्मान हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन है।

मौर्य ने मीडिया से बातचीत में भाजपा सरकार पर हमलावर होते हुए कहा कि योगी सरकार में दलित, पिछड़े, अति पिछड़े, किसान, मजदूर और बेरोजगारों से जो व्यवहार हुआ है। उस पर मैंने पार्टी के मंचों पर सवाल उठाए और अब मंत्री इस्तीफा दे दिया है।

मौर्य बोले, मुझे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा किसी से भी शिकायत नहीं है। मैं मुद्दों और नीतियों को लेकर राजनीति करता हूं। भाजपा के इन बड़े नेताओं के सानिध्य में सम्मान और स्नेह मिला है। सपा में शामिल होने पर उन्होंने कहा कि मैं अपने समर्थकों से बात करूंगा और एक-दो दिनों में मीडिया के सामने बात रखूंगा। अभी आगे की धार और आगे की वार देखते रहिए।

मौर्य के इस्तीफा देने के बाद कई भाजपा विधायक उनके आवास पर मौजूद थे। मौर्य के साथ ही तिंदवारी से विधायक बृजेश प्रजापति, बिल्हौर से विधायक भगवती सागर और तिलहर से विधायक रोशन लाल वर्मा ने इस्तीफा दे दिया है।