2022 में सपा और RLD में रहेगा गठबंधन, अखिलेश यादव की इस घोषणा से पश्चिमी UP में हलचल

अलीगढ़ । यूपी विधानसभा चुनाव में भले ही एक वर्ष शेष है लेकिन सियासी जुगलबंदी तेज हो गई है । 2017 में बुआ-भतीजे की जोड़ी के बाद अब 2022 के लिए अखिलेश – जयंत की जोड़ी पर मुहर लग गई है। आगामी विधानसभा चुनाव दोनों साथ मिलकर लड़ेंगे। शुक्रवार को टप्पल में हुई महापंचायत में पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने इसकी घोषणा कर दी। सपा-रालोद का गठबंधन 2022 चुनाव तक रहेगा या नहीं। इसको लेकर संशय की स्थिति बनी हुई थी। लोकसभा चुनाव में सपा और बसपा का गठबंधन टूट गया था। बसपा ने भले ही गठबंधन से किनारा किया हो लेकिन समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल की दोस्ती अभी तक बरकरार है। पश्चिमी यूपी में सपा और रालोद के गठबंधन को लेकर नई चर्चाएं हैं और सियासी गलियारों के हलचल तेज है ।

शुक्रवार को अलीगढ के टप्पल में हुई किसान महापंचायत में राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यह एतिहासिक जगह किसान आंदोलन की एतिहासिक भूमि है। यहां हमारे जितने लोग बैठे हैं, उन बुर्जुगों ने चौ. चरण सिंह को देखा है। उनके परिवार, पार्टी के लोग हमारे गठबंधन में हैं। ये लोहिया के लोग हैं, नेताजी के लोग हैं। लोहियाजी व नेताजी के सिद्धांतों पर चलने वाले हैं। यह कहकर सपा सुप्रीमो ने 2022 के लिए रालोद के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ने का भी ग्रीन सिग्नल दे डाला।

अब यह तो वक्त ही बताएगा कि इस गठबन्धन का भविष्य क्या होगा ?