सोशल मीडिया पर भगवा संगठनों को काउंटर अटैक देने के लिए तैयार NSUI

जियाउर्रहमान –

छात्र राजनीति में तेजी से बढ़ते सोशल मीडिया के चलन को लेकर अब छात्र संगठन भी सक्रिय हो गए हैं | अभी तक मेट्रो सिटीज में छात्र संगठनों का सोशल मीडिया पर ज्यादा फोकस रहता था लेकिन संचार क्रान्ति के इस दौर में अब गाँव देहात से जुड़े कालेजों और छोटे कस्बो तथा शहरों के युवाओं और छात्रों को जोड़ने के लिए छात्र संगठन सोशल मीडिया पर अपनी टीम मजबूत करने में जुट गए हैं | भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई ) ने भी सोशल मीडिया पर सक्रियता के लिए पश्चिमी यूपी में अपनी टीम तैयार की है जो भगवा छात्र संगठनों को तो जवाब देगी ही साथ ही अपनी विचारधारा का भी प्रचार प्रसार करेगी | दरअसल भगवा संगठनों के सोशल मीडिया पर सक्रिय होने से कांग्रेस और अन्य देश के महापुरुषों के खिलाफ ज़हरीले सन्देश वायरल किये जाते हैं, जिसको काउंटर अटैक करने के लिए अब एनएसयूआई की टीम कालेज से लेकर प्रदेश स्तर तक खड़ी की जा रही हैं | आरएसएस द्वारा प्रायोजित झूठे प्रचार को रोकने और उसे जवाब देने का काम यह टीम करेंगी |

पश्चिमी यूपी के अध्यक्ष अनुशेष शर्मा के नेतृत्व में इस टीम ने शुक्रवार को एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष फैरोज खान से मिलकर सोशल मीडिया की रणनीति बनाई और मार्गदर्शन लिया | तेजतर्रार छात्र नेताओं में शुमार फैरोज खान ने सोशल मीडिया टीम को टिप्स दिए और काउंटर अटैक की रणनीति समझाई है | पश्चिमी यूपी के प्रदेश अध्यक्ष अनुशेष शर्मा ने बताया कि कालेज, जिला , जोन और प्रदेश स्तर पर संगठन की सोशल मीडिया टीमे बनाई जा रही है जो अगस्त तक काम करने लगेंगी | उन्होंने बताया कि आरएसएस और उसके भगवा संगठन सोशल मीडिया पर गिरोह बनाकर जहर उगलते हैं , झूठे और मनगढ़ंत पोस्ट वायरल करते हैं जिसे काउंटर किया जायेगा | सोशल मीडिया पर भाजपा और आरएसएस की पोल खोलने के साथ साथ छात्रों और युवाओं को देश के इतिहास, महापुरुषों के इतिहास से जोड़ा जायेगा | उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया एक दूसरे से जुड़ने का अच्चा माध्यम है लेकिन कुछ लोग इस प्लेटफार्म का उपयोग नफरत और जहर फ़ैलाने में कर रहे हैं जिसे रोकेंगे | एनएसयूआई की इस सोशल मीडिया टीम में दिल्ली से  हर्षित शर्मा, बिजनौर से गौतम सिसोदिया, हाथरस   से आदित्य शर्मा, मथुरा से हरीश और मेरठ से सूर्यांश पश्चिमी यूपी की  कमान संभालेंगे |

माना जा रहा है कि पीएम मोदी और आरएसएस के आनुवंशिक संगठनों के सोशल मीडिया पर सक्रिय होने के जवाब में यह टीम सक्रिय होकर नौजवानों और छात्रों को कांग्रेस और एनएसयूआई  से जोड़ेगी | खैर, जो भी हो यह तो तय है कि आने  वाले दिनों में सोशल मीडिया का प्लेटफार्म  जंग का मैदान बनने वाला है |