शी का आबे से द्विपक्षीय संबंध और मजबूत करने का आग्रह

दा नांग | चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से द्विपक्षीय संबंधों को बेहतर बनाने और रचनात्मक तरीके से दोनों पक्षों के बीच के मतभेदों को दूर करने के लिए अधिक ‘व्यावहारिक कदम’ उठाने का आग्रह किया है।

शी ने शनिवार को 25वें एशिया-प्रशांत आर्थिक सहयोग (एपेक) सम्मेलन से इतर आबे से कहा, “चीन-जापान संबंधों को सुधारने की कुंजी आपसी विश्वास है।”

उन्होंने दोनों देशों की सामरिक सहमति को प्रतिबिंबित करने के लिए जापान से अधिक व्यावहारिक कदम उठाने और अधिक विशिष्ट नीतियों को अपनाने का आग्रह किया, जो यह पुष्टि करता है कि चीन और जापान एक दूसरे के सहयोगी हैं और एक दूसरे के लिए खतरा नहीं हैं।

शी ने कहा कि चीन और जापान पड़ोसी हैं और एशिया और दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाएं हैं और चीन-जापान संबंधों में स्थिर विकास दोनों पक्षों के हितों के अनुरूप है। साथ ही इसका क्षेत्र और विश्व पर भी महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि दोनों देशों को बेल्ट एवं रोड पहल के ढांचे के तहत क्षेत्रीय आर्थिक एकीकरण को बढ़ावा देना चाहिए और सहयोग बढ़ाना चाहिए।

शी ने कहा कि दोनों पक्षों को संस्कृति, मीडिया और युवाओं के आदान-प्रदान में वृद्धि जारी रखनी चाहिए।

वहीं, आबे ने पिछले महीने आयोजित कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) की 19वीं राष्ट्रीय कांग्रेस की सफलता व शी के एक बार फिर सीपीसी की केंद्रीय समिति का महासचिव चुने जाने पर बधाई दी।

उन्होंने कहा कि जापान दोनों देशों के बीच सामरिक-पारस्परिक लाभकारी संबंध के विकास के लिए चीन के साथ काम करने के लिए तैयार है।