शर्मनाक : फौजी की पत्नी से हैवानों ने किया सामूहिक दुष्कर्म

पटना; देश में बेटी बचाओ का नारा दिया जा रहा हैं और बिहार में 24 घंटे के अंदर दो ऐसे घटनाएं घटे है जो महिलाओं को पुरी तरह से असुरक्षित करार देने के काभी हैं । राजधानी पटना के नौबतपुर में एक महिला अपनी अस्मत बचाने के दौरान जान गवां बैठी । तो दूसरी ओर मुजफ्फरपुर में एक फौजी की पत्नी के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना घटी हैं ।
फौजी देश की सुरक्षा में जुटा हैं ।वह अपनी घर की इज्जत से लेकर जायदाद तक राज्य के पुलिसकर्मी एवं प्रशासन के जिम्मे छोड़ बोर्डर पर रहता हैं । लेकिन राज्य की पुलिस सेना के जवानों की घर की आबरू बचाने के जगह और गलत व्यवहार करता हैं । ऐसी ही घटना बिहार के मुजफ्फरपुर में घटित हुई हैं ।जहां की सरकार न्याय के साथ विकास की नारा देती हैं । लेकिन हकीकत कुछ और ही हैं ।

सीतामढ़ी जिले का फौजी की पत्नी पढ़ाई को लेकर मुजफ्फरपुर के सदर थाना क्षेत्र अंतर्गत खबरा में रहकर पढ़ाई कर रहीं थी। पूजा देवी (काल्पनिक ) प्रतिदिन रास्ते से आती -जाती थी तो रास्ते में बदमाशों द्वारा अश्लील फब्तियां कसी जाती थी। पूजा नजरअंदाज कर अपनी पढ़ाई में जुटी थी। इसी में से एक गौतम कुमार बदमाश ,पूजा को मदद के ख्याल से आगे आया और बदमाशों को पंगा ले पूजा के दिल में हमदर्दी जुटा लिया ।लेकिन गौतम के इरादे पूजा का बचाव करने का नहीं बल्कि असम्त को लूटना था। बीते बुधवार को गौतम ,पूजा को फोन कर कमरे से बाहर बुलाया और उसे अपने दो और साथियों के मदद से जबरन उठाकर ले गया और हाथ पैर बांधकर सामूहिक दुष्कर्म किया। फौजी की पत्नी के कमरे और मोबाइल तोड़ दिया गया ताकि महिला किसी से शिकायत नहीं करें और न पुलिस के पास जाएं ।

सामूहिक दुष्कर्म की पीडि़त ,फौजी की पत्नी उसी हालत में जब सदर थाना पहुंची तो पुलिस वाले ने शिकायत या मदद करने के बजाए महिला थाने जाने को बोल पल्ला छाड़ लिया । सदर थाना ने कोई कार्रवाई नहीं किया । पीडि़त पूजा ,महिला थाना पहुंची और आप-बीती सुनाई । महिला थाने के पुलिस पीडि़ता की मेडिकल जांच एवं अपराधियों के गिरफ्तारी में जुट गयी हैं । सोचने वाली तो बात यह हैं की मोबाइल चोर को गिरफ्तार करने के लिए जिले के एसपी टीम गठित करते हैं लेकिन सामूहिक दुष्कर्म जैसे जघ्नय अपराध के लिए रूटीन कार्रवाई ।

इधर राजधानी पटना के नौबतपुर में दुष्कर्म का प्रयास में असफल अपराधियों ने महिलाओं ने लोहे के रड से प्राइवेट पार्ट पर हमला कर बुरी तरह से जख्मी कर दिया ।पीएमसीएम में पीडि़त महिला दम तोड़ दी। लेकिन पुलिस की कार्रवाई इस मामले में भी रूटीन वर्क हैं । ऐसी स्थिति हैं बिहार में महिला की सुरक्षा की और सरकार न्याय के साथ विकास की बात करती हैं । इसमें कितनी सच्चाई हैं सरकार खुद पुलिस की कार्रवाई से ही जान लें।