शाह का राहुल गांधी पर तंज: कांग्रेस तो अपने नेताओं की अस्थि कलश यात्रा निकालती है

कांग्रेस में चल रहे परिवारवाद को लेकर शुक्रवार को बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा। अमित शाह ने कहा कि ब्रिटिश द्वारा बनाई गई पार्टी ने केवल अभी तक चार राष्ट्रीय टूर किए हैं जिनमें से तीन तो केवल अपने नेताओं की अस्थियों के लिए किए गए। झारखंड के रांची में आयोजित पंडित दीनदयाल उपाध्याय के बेहतरीन कामों के उपलक्ष्य कार्यक्रम में कहा कि कांग्रेस ने अभी तक केवल चार नेशनल टूर किए हैं, एक जवाहरलाल नेहरु जी का अस्थि कलश लेकर, एक इंदिरा जी का अस्थि कलश लेकर और एक राजीव जी का अस्थि कलश लेकर और अब राहुल जी बिना किसी कलश के टूर करने के लिए निकल जाते हैं।

शाह ने कहा हमारी पार्टी जन संघ के समय से राष्ट्रीय दौरे कर रही है, ताकि गौहत्या, कश्मीर से कन्याकुमारी तक देश की एकता, राम जन्मभूमि, सोमनाथ और गोवा को मुक्त कराने जैसे मुद्दों के लिए यात्रा कर चुकी है। बात दें कि अमित शाह ‘स्वतंत्रता के बाद भारत की अलग-अलग पार्टियों ने देश में कैसा प्रदर्शन किया है, उसके तुलनात्मक अध्ययन’ के विषय पर बोल रहे थे। शाह ने कहा कि बीजेपी देश में केवल चुनाव जीतने और अपनी सरकार बनाने के लिए नहीं है बल्कि हमने लोगों के सोचने का नजरिया बदल दिया है। शाह ने कहा कि आंतरिक लोकतंत्र केवल बीजेपी और कम्यूनिस्ट पार्टी में बचा है। आप जानते हैं कि कांग्रेस और शिबू सोरेन की जेएमएम जैसी पार्टियों का प्रमुख कौन होगा लेकिन क्या आप कह सकते हैं कि अमित शाह के बाद बीजेपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष कौन बनेगा। कांग्रेस जैसी पार्टियों में केवल परिवारवाद चल रहा है।

 अमित शाह के अनुसार कांग्रेस का स्वतंत्रता आंदोलन के समय भी शासन के पहलुओं पर कोई स्पष्ट विचार नहीं रहा है। शाह ने कहा कि स्वतंत्रता आंदोलन के लिए विभिन्न वैचारिक विचार महत्वपूर्ण थे क्योंकि सभी भारत की आजादी चाहते थे। इसके बाद जब राष्ट्रीय नीति को परिभाषित करने का समय आया तो रक्षा, शिक्षा और विदेश नीतियों जैसे विषयों को पूरी तरह से पश्चिम से कॉपी कर लिया गया। इसके खिलाफ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने अपनी आवाज उठाई और 10 सदस्यों के साथ भारतीय जन संघ का निर्माण किया जो कि अब 11 करोड़ सदस्यों के साध देश की सबसे बड़ी पार्टी है।