स्पा सेंटर में चल रहा था सेक्स रैकेट, कॉल गर्ल सहित कई गिरफ्तार

लखनऊ | विकासनगर इलाके में आईक्यू टॉवर में स्पा सेंटर की आड़ में सेक्स रैकेट संचालित हो रहा था। स्थानीय लोगों ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। मौके पर पहुंची एसीपी महानगर व विकासनगर इंस्पेक्टर की टीम ने आठ लोगों को दबोचा। इसमें पांच युवतियां और संचालक सहित तीन पुरुष शामिल हैं। मौके से कई आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

डीसीपी उत्तरी कासिम आब्दी के मुताबिक पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी गई थी। जिसमें कहा गया कि टाटा मोटर्स के पास आईक्यू टॉवर नाम का व्यावसायिक भवन है। इसमें रोज डे यूनिसेक्स सैलून के नाम से स्पा सेंटर संचालित होता है। स्पा सेंटर की आड़ मे सेक्स रैकेट संचालित हो रहा है। सूचना पर पीआरवी की टीम पहुंची। तो वहां पर संदिग्ध गतिविधियां दिखीं। सूचना की पुष्टि होने के बाद महानगर एसीपी जया शांडिल्य और विकासनगर इंस्पेक्टर टीबी सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम पहुंची। मौके से पुलिस ने पांच युवतियों व तीन युवकों को गिरफ्तार किया।

पकड़े गये युवकों में स्पा सेंटर का संचालक उन्नाव निवासी प्रद्युमन सिंह, बाराबंकी का अशोक व गोलू पकड़े गये। स्पा सेंटर के अंदर से कई आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई। जिससे साफ हो गया कि अनैतिक रूप से देह व्यापार का कारोबार चलता है। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर थाने ले गई। जहां मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। पुलिस के मुताबिक संचालक प्रद्युमन सिंह ने स्पा सेंटर की आय बढ़ाने के लिए सोशल मीडिया ग्रुप भी बना रखा था। जिसके जरिए वह सेक्स रैकेट संचालित करता था। इस ग्रुप में उसने कई युवतियों के आपत्तिजनक फोटो भी डाल रखे थे। वहीं ग्रुप में अश्लील मेसेजों के जरिए चैटिंग की जाती थी। पूछताछ में सामने आया कि आरोपी युवतियों से इस ग्रुप में शामिल ग्राहकों से वीडियो कॉलिंग कर अश्लील बातें भी कराता था। पुलिस ने ग्रुप से जुड़े सभी सदस्यों के बारे में जानकारी जुटा रही है। ताकि उनसे भी पूछताछ की जा सके।

नीचे कोचिंग तो ऊपर चलता था स्पा सेंटर-
पुलिस के मुताबिक, आईक्यू टॉवर में नीचे कोचिंग सेंटर भी संचालित होता है। जहां पर हाई स्कूल से स्नातक तक के छात्र पढ़ाई करने आते थे। उसी भवन में स्पा सेंटर की आड़ में सेक्स रैकेट भी संचालित हो रहा था। जब पुलिस ने छापा डाला तो नीचे कोचिंग सेंटर में बच्चे पढ़ रहे थे।