पूर्व BSP विधायक प्रमोद गौड़ के सात परिजन निर्विरोध BDC बने, ब्लॉक प्रमुख बनना तय

अलीगढ | अलीगढ़ में एक एक ही परिवार से एक, दो नहीं बल्कि सात परिजन बुधवार को निर्विरोध बीड़ीस चुन लिए गए। खैर ब्लॉक प्रमुख के सात वार्डों से बसपा के पूर्व विधायक प्रमोद गौड़ सहित उनकी पत्नी, पुत्र-पुत्रवधू सभी परिवार के सदस्य बिना चुनाव के ही जीत का परचम फहरा दिया। 1989 से खैर ब्लॉक प्रमुख सचिव पूर्व विधायक का वर्चस्व कायम है।

आज के दौर में जहां पंचायत चुनाव में युवा व पढ़े लिखे प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। विकास के मुद्दों पर प्रधान का चुनाव लड़ा जा रहा है। ऐसे में समय में मंगलवार को नामांकन वापिसी की प्रक्रिया के बाद खैर ब्लॉक प्रमुख के सात वार्डों से क्षेत्र पंचायत सदस्य (बीडीसी) के लिए बसपा के पूर्व विधायक के सात परिजन निर्विरोध चुन लिए गए। वर्ष 1989 से खैर ब्लाक प्रमुख चुनाव में किंगमेकर की भूमिका निभाने वाले पूर्व विधायक व उनके परिवारीजनों ने विभिन्न सात वार्डो से बीडीसी के लिए नामांकन किया था। कुछ स्थानों पर अन्य प्रत्याशियों ने भी नामांकन किया था।

गांवों में हुई पंचायत के बाद बुधवार को सामने खडे प्रत्याशियों ने अपने नामांकन वापस ले लिए। कोई प्रत्याशी न होने की दशा में वार्ड नम्बर 69 पीपल गांव से पूर्व विधायक प्रमोद गौड़, 51 बाजिदपुर से निर्वतमान ब्लाक प्रमुख दिवाकर गौड़, 57 तेहरा से सौम्या गौड़, 60 विहारीपुर प्रथम से प्रशंसा गौड़, 67 भानौली से पूर्व ब्लाक प्रमुख रेखा गौड़, 61 विहारीपुर द्वितीय से कुसुम गौड़, 68 सहरोई से प्रभाकर गौड़ निर्विरोध निर्वाचित हुए है।