सेना से मुठभेड़ में बुरहान वानी का उत्तराधिकारी सबज़ार अहमद मारा गया

श्रीनगर। हिज्बुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद उसकी जगह लेने वाला सबजार अहमद भट कश्मीर के पुलवामा जिले में त्राल इलाके में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो अन्य आतंकवादियों के साथ आज मारा गया। आतंकवादियों के मारे जाने के बाद घाटी में कई स्थानों पर पथराव की घटनाएं शुरू हो गईं। पुलिस महानिदेशक एसपी वैद ने कहा कि आज सुबह त्राल के सोएमोह इलाके में मुठभेड़ में मारे गए दो आतंकवादियों में से एक बुरहान वानी का उत्तराधिकारी सबजार अहमद भट है।
पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि सुरक्षा बलों ने इलाके में हिज्बुल मुजाहिदीन के कुछ शीर्ष आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना के आधार पर यहां से 36 किलोमीटर दूर त्राल के सोएमोह गांव में घेराबंदी की और तलाशी अभियान शुरू किया। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों ने गत रात को त्राल इलाके में सेना के गश्ती दल पर गोलीबारी शुरू कर दी थी जिसके बाद अभियान शुरू किया गया। अधिकारी ने बताया कि जैसे ही सुरक्षा बल आतंकवादियों के ठिकाने की ओर बढ़ने लगे तो आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू दी। अधिकारी ने कहा कि पुलवामा में त्राल और अनंतनाग जिले में खानबल समेत दक्षिण कश्मीर के कुछ हिस्सों में पथराव की घटनाएं दर्ज की गईं। उन्होंने कहा कि कानून प्रवर्तन एजेंसियां प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने में लगी हैं। दक्षिण कश्मीर में गत वर्ष आठ जलाई को बुरहान वानी मारा गया था। उसकी मौत के बाद कश्मीर घाटी में महीनों तक हिंसा फैली रही।
बताया जा रहा है कि सेना की ओर से चारों ओर से घेर लिए जाने के बाद सबजार ने अपने परिजनों को फोन कर उनसे अंतिम बार बातचीत भी की। सबजार के मारे जाने को सेना की बहुत बड़ी कामयाबी बताया जा रहा है। दूसरी ओर, सेना ने कश्मीर के रामपुर सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर आज घुसपैठ के प्रयास को नाकाम करते हुए चार आतंकवादियों को मार गिराया। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि जवानों ने रामपुर सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर आज तड़के संदिग्ध गतिविधियां देखीं। उन्होंने बताया कि सेना और घुसपैठियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई जिसमें चार आतंकवादी मारे गए।