हिन्दू-मुस्लिम एकता के प्रतीक थे राजा महेंद्र प्रताप : RLD

अलीगढ़ । राष्ट्रीय लोकदल ने महान स्वतंत्रता सेनानी आर्यन पेशवा राजा महेंद्र प्रताप सिंह का जन्मदिन शनिवार को तस्वीर महल स्थित उनके पार्क में मनाया और प्रतिमा पर माल्यार्पण किया । रालोद नेताओं ने पुष्प अर्पित कर स्वतंत्रता सेनानी को श्रद्धांजलि अर्पित की ।

रालोद नेता जियाउर्रहमान एडवोकेट ने कहा कि राजा महेंद्र प्रताप हिन्दू-मुस्लिम एकता के प्रतीक थे और आपसी भाईचारा और सद्भाव के प्रबल समर्थक थे । जियाउर्रहमान ने कहा कि उनका व्यक्तित्व और जीवन युवाओं और छात्रों के लिए एक सबक है । उन्होंने भाजपा से अलीगढ़ में यूनिवर्सिटी की स्थापना की मांग करते हुए कहा कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम से राजकीय यूनिवर्सिटी बनाये ।

रालोद मंडल उपाध्यक्ष प्रतीक चौधरी एडवोकेट ने कहा कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह जी ने देश की आज़ादी की लड़ाई लड़ी और आजादी के बाद में समाज में आपसी भाईचारे और सद्भाव को प्रगाड किया | उन्होंने कहा कि हम सभी को उनके बताए रास्ते पर चलना चाहिए |

मंडल अध्यक्ष डॉ इरफान ने कहा कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह ने समाज और देश के लिए अपना जीवन न्योछावर कर दिया था । उन्होंने कहा कि भाजपा ने राजा महेन्द्र प्रताप को भी कुछ वर्ष पूर्व राजनीति में घसीटने का प्रयास किया था लेकिन अब वही भाजपा उन्हें भूल गयी है । इस अवसर पर रालोद नेता जियाउर्रहमान, मंडल अध्यक्ष डॉ इरफान , उपाध्यक्ष प्रतीक चौधरी एड, रिजवान चौहान, शैलेश रावत एड, डॉ ओमवीर सिंह,मनदीप सिंह, प्रशांत शर्मा आदि मौजूद रहे ।