गलवान में झंडा लहराने की रिपोर्ट, राहुल गांधी ने पीएम मोदी से माँगा जवाब, गलवान में चीनी घुसपैठ को लेकर राहुल गांधी का तीखा हमला

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को एक बार फिर से केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए पूर्वी लद्दाख में चीन से चल रहे विवाद को लेकर तीखा सवाल पूछा है। ट्विटर पर पीएम मोदी पर इस मामले को लेकर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी को गलवान घाटी में चीन की घुसपैठ पर चुप्पी तोड़नी चाहिए। राहुल ने कहा, गलवान पर हमारा तिरंगा अच्छा लगता है, चीन को जवाब देना होगा, मोदी जी चुप्पी तोड़ो।

बता दें कि कांग्रेस पार्टी चीनी घुसपैठ को लेकर मोदी सरकार पर लगातार हमलावर है। खासकर राहुल गांधी इस मुद्दे पर सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अक्सर हमला करते रहते हैं। जिस तरह से पूर्वी लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश के हिस्सों में चीनी सेना घुसपैठ करती आ रही है उसको लेकर राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार को घेरते रहते हैं। इससे पहले शुक्रवार को राहुल गांधी ने केंद्र पर हमला बोलते हुए कहा कि चीन ने अरुणाचल प्रदेश की 15 जगहों के नाम बदल दिए और इसे चीनी भाषा में कर दिया।

राहुल ने ट्वीट करके लिखा, कुछ दिन पहले हम भारत के 1971 के गौरव को याद कर रहे थे। देश की रक्षा, विजय के लिए सही और मजबूत फैसले लेने की जरूरत है। खोखले शब्दों से से जीत नहीं मिलती है। दरअसल यह रिपोर्ट सामने आई थी कि चीन ने अरुणाचल प्रदेश के 15 ठिकानों के लिए चीनी शब्द, तिब्बती और रोमन शब्दों के इस्तेमाल का ऐलान किया था, ये सभी ठिकानें अरुणाचल प्रदेश में हैं, जिसे चीन दक्षिण तिब्बत कहता है। हालांकी चीन के इस ऐलान पर भारत के विदेश मंत्रालय ने पलटवार करते हुए कहा कि इससे कुछ भी नहीं बदलेगा और अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न हिस्सा रहेगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने एक बयान में कहा कि अरुणाचल प्रदेश हमेशा से भारत का अभिन्न अंग रहा है। इसके कुछ हिस्सों को नया नाम देने से इसके तथ्यों पर कुछ भी असर नहीं पड़ने वाला है।

नए साल के मौके पर पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी से चीनी सैनिकों द्वारा कथित तौर पर झंडा फहराने के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है. राहुल गांधी ने रविवार को मोदी से गलवान क्षेत्र में चीनी घुसपैठ पर चुप्पी तोड़ने को कहा. राहुल गांधी ने अपने एक ट्वीट में लिखा,
“हमारा तिरंगा गलवान में अच्छा दिखता है. चीन को जवाब दिया जाना चाहिए. मोदी जी, चुप्पी तोड़ो.”

चीन की सरकारी मीडिया एजेंसी ग्लोबल टाइम्स ने 1 जनवरी 2022, दिन शनिवार को चीनी सैनिकों का एक वीडियो जारी किया था. ट्विटर पर जारी किए गए इस वीडियो में ग्लोबल टाइम्स ने दावा किया कि चीनी सैनिक भारतीय सीमा के पास गलवान घाटी से अपने नागरिकों को नए साल की बधाई दे रहे हैं. चीनी न्यूज़ एजेंसी ने अपने ट्वीट में लिखा,

“1 जनवरी को गलवान वैली में भारतीय सीमा के नजदीक PLA के सैनिक ‘कभी एक इंच जमीन नहीं देंगे’ (जैसे) शब्दों के साथ चीन के लोगों को नए साल की बधाई भेजते हुए.”