राष्ट्रीय अधिवेशन में बोली सोनिया गाँधी, कांग्रेस न झुकी है और न कभी झुकेगी

नई दिल्ली| कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस के 84वें अधिवेशन का आयोजन दिल्ली में किया जा रहा है। जहां पूरे देश से आये पार्टी के हजारों कार्यकर्ता और वरिष्ठ नेता मौजूद हैं। इस मौके पर कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने अगले पांच सालों की रणनीति और रूप रेखा पर चर्चा की अधिवेशन की शुरुआत राहुल गांधी के जोशीले भाषण से हुई जिसमें उन्होंने एक बार फिर मोदी सरकार को घेरा और उन्हें नफरत फैलाने वाला बताया है। दो दिनों तक चलने वाले इस अधिवेशन में पार्टी के कद्दावर नेता कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे हैं। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने तो मोदी सरकार पर हमला करते हुए ये कहा की नीरव मोदी जैसे घपलेबाज करोड़ों लेकर फरार हो गए, वहीं देश का किसान अभी भी न्यूनतम समर्थन मूल्य की लड़ाई लड़ रहा है। वहीं चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ने चीन-भारत के संबंधों के विकास के लिए कांग्रेस द्वारा किए गए सकारात्मक योगदान को याद किया और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अपनी शुभकामनाएं दी हैं। यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक संदेश में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने बधाई दी है। इंदिरा गांधी द्वारा बांग्लादेश के लिए बढ़ाए गए असाधारण समर्थन को याद करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के 84वें पूर्ण सत्र के लिए वो शुभकामनाएं भेज रही हैं। अधिवेशन में कांग्रेस की पॉलिटिकल कमेटी ने प्रस्ताव पारित किया जिसमें EVM के प्रति नाराजगी जाहिर की गई। कहा गया कि लोकतंत्र में चुनाव प्रक्रिया की विश्वसनीयता को सुनिश्चित करने के लिए पुराने तरीके से चुनाव संपन्न कराए जाएं। प्रस्ताव के मुताबिक कई देशों में की तरह भारत में भी EVM के बजाय मतपत्रों पर चुनाव करवाए जाएं। प्रस्ताव के अनुसार ईवीएम पर कई पार्टियों को संशय है। चुनाव आयोग को इस पर कदम उठाना चाहिए। महाअधिवेशन में अपने भाषण की शुरुआत में सोनिया गांधी ने राहुल गांधी को बधाई दी। उन्होंने कहा कि जो लोग हमारा अस्तित्व मिटाने का सपना देख रहे थै। उन्हें आज पता चल चुका है कि लोगों के दिलों में आज भी कांग्रेस के लिए प्यार जिंदा है। मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए सोनिया गांधी ने मनमोहन सरकार की उपलब्धियों को याद दिलाया। उन्होंने कहा कि मौजूदा मोदी सरकार, मनमोहन सरकार के कार्यकाल में बनाई गई योजनाओं को कमजोर कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस न कभी झुकी है और न कभी झुकेगी।

इस दौरान सोनिया गांधी ने कहा कि हम अच्छा भारत बनाने के लिए कांग्रेस हर कुर्बानी देने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर कर रही है। सोनिया ने अपने कार्यकर्ताओं से अपील की, कि अपनी निजी आकांक्षाओं को दरकिनार करते हुए देश को आगे ले जाने में अपना सहयोग दें। पक्षपात मुक्त भारत बनाने में सहयोग करें। हाहाकार मुक्त भारत बनाने में अपना योगदान दें। सोनिया गांधी ने कहा कि जिन राज्यों में हमारी सरकार नहीं है वहां राज्य सरकारें हमारे लोगों पर अत्याचार और अन्याय कर रही हैं। लेकिन कांग्रेस के कर्मठ कार्यकर्ता अन्याय और अत्याचार के खिलाफ संघर्ष करते रहे हैं। अधिवेशन में कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने दावा किया हैं कि 2019 में राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनने से कोई नहीं रोक सकता है। कांग्रेस की युवा ब्रिगेड में शामिल सचिन पायलट ने उन लोगों को निशाने पर लिया जो पार्टी को चुनौती देते हैं। उन्होंने कहा कि जो लोग हमारा मजाक बनाते हैं उन्हें बता दूं कि राहुल गांधी की अगुवाई में हमने उपचुनाव में जीत दर्ज की है। और वह दिन दूर नहीं जब राज्यों के चुनाव भी जीतना शुरू करेंगे। उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को जबरदस्त मिलेगी।

राहुल गांधी के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। अपने भाषण में उन्होंने एक शायरी के जरिए मोदी सरकार पर ना केवल हमला किया बल्कि आरएसएस-भाजपा को लोगों का खून पीने वाला तक बताया। खड़गे ने कहा- तिमिर को रोशनी कहते हुए अच्छा नहीं लगता, मुझे गम को खुशी कहते हुए अच्छा नहीं लगता। लहू इंसानियत का जो दिन-रात पीते हैं, आरएसएस-बीजेपी के लोग उनको इंसान कहते हुए मुझे अच्छा नहीं लगता। खड़गे ने कहा- आप सभी के आशीर्वाद और सहयोग से हम एक बार फिर कर्नाटक को जीत लेंगे। हमें आपकी मदद की जरूरत है। जिस तरह भाजपा और आरएसएस के कार्यकर्ता हर दरवाजे पर जा रहे हैं, ठीक उसी तरह आप भी करें और कर्नाटक में हमारी मदद करें। अध्यक्ष बनने के बाद राहुल का यह पहला महाधिवेशन है। उन्होंने देश के दूर दराज क्षेत्रों से आए कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘यह जो हाथ का निशान है, यही देश को जोड़ने और आगे ले जाने का काम कर सकता है।’ उन्होंने कहा कि देश को सिर्फ कांग्रेस पार्टी ही रास्ता दिखा सकती है। वो गुस्से का प्रयोग करते हैं और हम प्यार और भाईचारे का। राहुल गांधी ने कहा कि देश को बांटने की कोशिश की जा रही है लेकिन हमें देश को जोड़ने का काम करना है। उन्होंने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि जो लोग तोड़ने का काम कर रहे हैं देश की जनता ही उन्हें इसका जवाब देगी।