उत्तर प्रदेश विधानसभा इलेक्शन: चुनाव आयोग से मिले कांग्रेस के नेताओं पर पार्टी के भीतर रार, लल्लू बोले-अधिकृत नहीं था शिष्टमंडल

लखनऊ। चुनाव आयोग से मंगलवार को मिले कांग्रेस नेताओं पर पार्टी केभीतर ही रार पैदा हो गई। प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि यह प्रतिनिधिमंडल आयोग से मुलाकात के लिए अधिकृत नहीं था। वहीं, प्रतिनिधिमंडल में शामिल ओंकार नाथ सिंह ने इसके विरोध में सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। 

 लल्लू ने मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा को पत्र लिखकर कहा कि कांग्रेस का शिष्ट मंडल पार्टी की ओर से अधिकृत नहीं था। अब 30 दिसंबर को पार्टी की ओर से अधिकृत शिष्टमंडल उनसे मुलाकात करना चाहता है। इसमें उनके अलावा कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्र मोना, पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी और पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी शामिल रहेंगे। 

वहीं प्रदेश मीडिया एवं कम्युनिकेशन विभाग के सदस्य ओंकार नाथ सिंह ने प्रियंका गांधी को भेजे इस्तीफे में लिखा कि पार्टी की ओर से ही उन्हें आयोग की बैठकों में भागीदारी करने के लिए मौखिक निर्देश मिला था। उनकी प्रदेश सरकार से कोई निजी दुश्मनी नहीं है और न ही अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह से कोई नाराजगी है।

उन्होंने इनसे संबंधित मांग पार्टी हित में ही रखी थीं। साथ ही आरोप लगाया कि उनकी वरिष्ठता को किनारे करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने उनकी छवि धूमिल की है।