राजस्थान : 3 दिसंबर को जयपुर में गरजेंगे RLD युवराज जयंत, BJP और कांग्रेस बेचैन

अमन शर्मा/जयपुर । किसानों के मुद्दों पर देश की राजनीति में सक्रिय रहने वाले राजनैतिक दल राष्ट्रीय लोकदल की निगाहें अब राजस्थान पर हैं । 2018 में राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनावों में रालोद ने अपनी जमीन तलाशना शुरू कर दिया है । राजस्थान में रालोद के विस्तार का जिम्मा खुद रालोद युवराज पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने संभाल लिया है । जयंत चौधरी खुद राजस्थान में पार्टी के पदाधिकारियों , किसानों और नौजवानों से रूबरू होने 3 दिसंबर को जयपुर पहुंच रहे हैं । जयंत चौधरी का यह दौरा राजस्थान की सियासत में अहम माना जा रहा है । भाजपा और कांग्रेस की निगाहें भी अब इस दौरे को लेकर टिकी हुई हैं ।

आगामी 3 दिसंबर को रालोद युवराज जयंत चौधरी जयपुर के मानसरोवर स्थित संस्कृति कालेज के जीडी बढ़ाया ऑडिटोरियम में किसानों, नौजवानों , अल्पसंख्यकों से रूबरू होंगे । जयंत राजस्थान रालोद के नेताओं से भी मिलेंगे । राजस्थान में पार्टी को विस्तार देने के साथ साथ चौ चरण सिंह की विचारधारा को राजस्थान में आगे बढ़ाने को लेकर भी रणनीति तय करेंगे । 2018 में होने वाले राजस्थान विधानसभा के चुनावों के मद्देनजर जयंत का यह दौरा बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है । राजस्थान में जाट समुदाय करीब एक सैंकड़ा सीटो को प्रभावित करता है । रालोद की नजरें राजस्थान में जाट-यादव-मुस्लिम-गुर्जर को एक कर राजस्थान में नया सियासी धमाका करने पर हैं । जयंत चौधरी के दौरे पर भाजपा और कांग्रेस की भी निगाहें लग गयी हैं । सियासी गलियारे में जयंत की गर्जना को लेकर तरह तरह के कयास लगाए जा रहे हैं ।

राजनैतिक विश्लेषकों का मानना है कि रालोद ने यदि अपने दम पर राजस्थान में विधानसभा लड़ने का एलान कर दिया तो फिर सूबे के सियासी हालात बदल जाएंगे । भाजपा और कांग्रेस को रालोद चुनावो में पानी पिला देगा । अब देखना यह है कि 3 दिसंबर को रालोद युवराज राजस्थान में क्या नया एलान करते हैं ?