राजस्थान में कांग्रेस से सीएम पद की दौड़ में सबसे आगे हैं सचिन पायलट और अशोक गहलोत !

नई दिल्ली | राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरदारपुरा सीट से जबकि कांग्रेस की प्रदेश इकाई के प्रमुख सचिन पायलट टोंक से चुनाव लड़ेंगे। राज्य में सात दिसंबर को विधानसभा चुनाव होंगे। कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद गुरुवार को यहां पार्टी द्वारा घोषित 152 उम्मीदवारों की पहली सूची में उनके नाम थे। हालांकि, पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री की घोषणा अभी तक नहीं हुई है। आईएएनएस के अनुसार, मुख्यमंत्री पद के चेहरे के तौर पर गहलोत और सचिन पायलट दौड़ में आगे हैं।

दौसा और अजमेर से पूर्व सांसद सचिन पायलट पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। पार्टी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सी.पी. जोशी को नाथद्वारा और गिरिजा व्यास को उदयपुर विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है। नरेंद्र बुडानिया, रघुवीर मीणा और हरीश चौधरी सहित पांच पूर्व सांसदों को टिकट दिए गए हैं। पार्टी की ओर से दो मौजूदा सांसदों को मैदान में उतारा गया है, जिनमें मंगलवार को कांग्रेस में शामिल हुए भारतीय जनता पाटीर् (भाजपा) सांसद हरीश मीणा भी शामिल हैं। वह देवली-उनियारा से चुनाव लड़ेंगे। अजमेर के सांसद रघु शर्मा को केकड़ी से उम्मीदवार बनाया गया है।

भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुए विधायक हबीबुर्रहमान को नागौर से मैदान में उतारा गया है। भाजपा द्वारा टिकट दिए जाने से मना करने पर उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया था। पांच और मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिए गए हैं। जिनमें मकराना से जाकिर हुसैन, पुष्कर से नसीम अख्तर, किशनपोल से अमीन कागजी, पोकरण से सालेह मोहम्मद और शीओ से अमीन खान शामिल हैं। पार्टी ने तीन मौजूदा विधायकों टोडाभीम से घनश्याम मेहर, दांतारामगढ़ से नारायण सिंह और झाड़ोल से हीरालाल को टिकट देने से इनकार कर दिया।