लखीमपुर खीरी में मृतक लवप्रीत और पत्रकार के परिजनों से मिले राहुल-प्रियंका, केंद्रीय मंत्री की बर्खास्तगी की मांग

लखीमपुर खीरी | आख़िरकार राहुल और प्रियंका लखीमपुर खीरी पहुँच ही गए | सीतापुर में नजरबंद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी बुधवार को राहुल गांधी के साथ तिकुनिया बवाल में मारे गए लवप्रीत के घर चौखड़ा फार्म पहुंचे। उन्होंने लवप्रीत के परिजन से मुलाकात की और न्याय का भरोसा दिलाया। इसके बाद वे लोग निघासन में मृतक पत्रकार रमन कश्यप के यहां भी पहुंचे। इस दौरान उन्होंने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी और उनके बेटे आशीष मिश्र की गिरफ्तारी की मांग की। वहीँ, लवप्रीत के परिजन ने कहा कि प्रियंका और राहुल गांधी ने हमारी हिम्मत बढ़ाई है। मुआवजा सब कुछ नहीं है, हमें न्याय चाहिए। उन्होंने हमारी बात पूरे ध्यान से सुनकर मदद का आश्वासन दिया है। वहीं, रमन कश्यप के परिजन ने बताया कि उन्होंने राहुल गांधी को पोस्टमार्टम रिपोर्ट सौंपी है। राहुल गांधी ने उन्हें न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है।

प्रियंका गांधी और राहुल गांधी बुधवार रात करीब साढ़े नौ बजे कड़ी सुरक्षा के बीच लवप्रीत के घर पहुंचे। बाहर मीडिया वालों का हुजूम लगा था लेकिन उन्होंने किसी से बात नहीं की और सीधे उनके घर चली गईं। दोनों ने लवप्रीत के परिवार वालों से बातचीत कर घटना के बारे में पूरी जानकारी ली और न्याय का भरोसा दिलाया। उनके घर से निकलने के बाद मीडिया ने प्रियंका और राहुल गांधी ने दोबारा बातचीत का प्रयास किया लेकिन उन्होंने किसी सवाल का जवाब नहीं दिया और वहां से चले गए। चौखड़ा फार्म के बाद वे मृतक पत्रकार रमन कश्यप के घर निघासन पहुंचे और उनके परिवार वालों से बातचीत कर घटना की जानकारी ली। 

विदित हो कि रविवार को तिकुनिया में हुए बवाल के दौरान चार किसान पर कार चढ़ाकर उनकी हत्या कर दी गई थी। बवाल के दौरान एक पत्रकार और तीन भाजपा कार्यकर्ताओं की भी मौत हुई थी। घटना वाले दिन से ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वहां आने की कोशिश कर रही थीं। मगर सीतापुर में ही पहले उन्हें नजरबंद और फिर गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं, राहुल गांधी की ओर से प्रदेश सरकार से वहां जाने की अनुमति मांगी गई थी। तीन दिन तक चले टकराव के बाद बुधवार रात प्रियंका गांधी और राहुल गांधी को वहां जाने की अनुमति दे दी गई।