पंजाब: मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी के करीबी समेत 10 के ठिकानों पर छापेमारी

चंडीगढ़। पंजाब में विधानसभा चुनाव की तारीख के ऐलान के बीच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पंजाब में छापेमारी की है। बता दें कि मंगलवार को अवैध रेत खनन मामले में लुधियाना, मोहाली और पठानकोट जिलों में 10 स्थानों पर ईडी ने तलाशी ली। इसमें पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के रिश्तेदार भूपिंदर सिंह हनी का मोहाली में स्थित आवास भी शामिल है। बता दें कि ईडी मुख्य आरोपी कुदरत दीप सिंह के खिलाफ पंजाब पुलिस द्वारा 2018 में दर्ज प्राथमिकी के आधार पर धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत धन शोधन के एक मामले की जांच कर रही है। जो शहीद भगत सिंह नगर जिले के नवांशहर में एक खदान का मालिक है। सामने आई जानकारी के मुताबिक कुदरत दीप सिंह ने दो कंपनियां बनाई थीं। जिसके निदेशक चन्नी के भतीजे भूपिंदर सिंह और संदीप सिंह थे।

गौरतलब है कि अवैध बालू खनन का मामला शुरू में पंजाब पुलिस द्वारा नवांशहर के राहों थाने में खनन अधिकारी की शिकायत पर खान और खनिज (विकास नियमन) अधिनियम, 1957 की धारा 21(1) और 4(1) के तहत दर्ज किया गया था। इस मामले में 26 आरोपी थे, जिनमें ज्यादातर ट्रक ड्राइवर थे। सीएम चन्नी ने क्या कहा: इस छापेमारी को लेकर सीएम चन्नी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में जब चुनाव हुए थे तब वहां भी ममता बनर्जी के रिश्तेदारों पर इसी तरह अट्टैक हुए थे अब पंजाब में ईडी ऐसा ही कर रही है। ये लोकतंत्र के ख़तरा है लेकिन हम हारने वाले नहीं है। चुनाव आ गया तो इन्हें ईडी की रेड याद आ गई है।

पंजाबी नहीं दबते: उन्होंने कहा कि मुझे मीडिया के माध्यम से ख़बर मिली। ये मुझे, मेरे मंत्री और कांग्रेस के हर नेता को परेशान कर रहे हैं। 2018 में मैं मुख्यमंत्री नहीं था, ये हमें दबाने की कोशिश कर रहे है लेकिन पंजाबी कभी दबते नहीं है। इस छापेमारी को लेकर आप के अरविंद केजरीवाल ने कहा, “बहुत दुख की बात है कि पंजाब के सीएम के रिश्तेदार के घर पर अवैध बालू खनन मामले में छापेमारी हो रही है। राघव चड्ढा जी ने चन्नी साहब को भी दिखाया था कि किस तरह वहां पर रेत चोरी हो रही है लेकिन फिर भी उन्होंने इस पर कोई एक्शन नहीं लिया।”