बुलन्दशहर में कूड़े से बने पहाड़ को लेकर शुरू हुई राड़, लोगों ने किया प्रदर्शन

शुभम अग्रवाल/ बुलंदशहर । बुलंदशहर में स्याना रोड पर ग्रामीणों ने सड़क पर कूड़े से अटे हुए पहाड़ को हटाने को लेकर रोड जाम कर सुबह प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।  जिसमें महिलायें भी अपने चौका बर्तन छोड़ सड़क पर उतर कर पुलिस से तीखी नोकझोक में दिखाई दी। ग्रामीणों की उम्मीद डीएम पर जा टिकी है। लोगो ने नगर पालिका की जेसीबी व् कूड़ा उठाने वाले ट्रक को रोक जाम लगाना शुरू कर दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि पालिका अधिकारीयों व् कर्मचारियों को पहले भी कई बार कूड़े का निस्तारण करने के लिए निवेदन किया जा चुका है लेकिन किसी के कान पर जून नहीं रेंगती है यही पर वो लोग रोजाना कूड़ा डालते हैं और अब कूड़ा जलाना  भी शुरू कर दिया है जिससे हमारे जीवनयापन पर दुष्प्रभाव पड़ता है और सड़क मछरों व् जानवरो के चलते दुर्घटनाएं व् बीमारी के दुष्प्रभाव ज्यादा सामने आने लगे है।

नयी मंडी चौकी इंचार्ज ने बताया कि कुछ समय के लिए लोगो ने जाम लगाया था लेकिन उन्हें समझाकर ईओ नगर पालिका के मौके पर आने के आश्वासन पर  जाम खुलवा दिया है। जिससे लोगो के व्यापर पर प्रभाव न पड़े। प्रदूषण के लिए चर्चा में रहने वाली दिल्ली से भी अधिक जहरीली बुलंदशहर की हवा हो गई है। बता दें कि देश के प्रदूषित 60 शहरों में बुलंदशहर का नाम टॉप 10 में रह चुका है। पिछले कुछ माह के भीतर बुलंदशहर का एक्यूआई दिल्ली से भी अधिक 400 के पार जा चुका है। लगातार बढ़ रहे प्रदूषण को रोकने को लेकर पूर्व में कई बार कूड़े का निस्तारण सही तरीके से न करने और उसे जलाने वाले सफाई कर्मियों पर डीएम ने कार्रवाई के निर्देश दिए थे, लेकिन आदेशों की अवहेलना करना तो कई कर्मचारियों की पारम्परिक विधि बनी हुई है। आसपास के गांवों में पराली जलाने, सड़क पर खटारा वाहनों के दौड़ने, कूड़ा फैलने और उसे जलाने पर निकलने वाले धूएं आदि से प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। जिससे बीमारी फैलने का खतरा बना हुआ है। कूड़ा निस्तारण को लेकर गरजीं महिलाएं समेत प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों ने चेताया कि शीघ्र सुधार न होने की दशा में वह आंदोलन के लिए विवश होंगे।

ईओ नगर पालिका पंकज सिंह ने बताया कि लोगों द्वारा कूड़ा जलाया जाने के आरोप निराधार हैं।  एसडीएम सदर व् हम मौके पर पहुंचे थे, जहाँ कूड़ा एकत्रित था वह जमीन नगर पालिका की है जिसमे डम्पिंग ग्राउंड के रूप में कुछ समय के लिए व्यवस्था की गयी थी , शहर से बाहर डम्पिंग ग्राउंड बनाने के लिए जमीन तलाश की जा रही है। जल्द ही लोगों की समस्या का निस्तारण किया जायेगा जिससे किसी भी प्रकार की जनमानस हानि न हो।