आगरा कांड : पुलिस हिरासत में मारे गए पीड़ित परिवार से मिलीं प्रियंका गाँधी, बोलीं,’UP में न्याय का कोई नामोनिशान नहीं’

आगरा | योगी सरकार की लाख रोकने कोशिशों के बावजूद प्रियंका गांधी वाड्रा बुधवार देर रात आगरा पहुंची और अरुण वाल्मीकि के परिजनों से मुलाकात की। इसके बाद प्रियंका गांधी ने कहा कि यूपी में न्याय का कोई नामोनिशान नहीं है। कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल हो चुकी है। देश में लोगों को न्याय नहीं मिल रहा है। योगी सरकार ने प्रदेश को कुछ भी नहीं दिया। आगरा में मृतक कर्मचारी के पीडि़त परिवार का शोषण हो रहा है। परिवार का संबंध भरतपुर से है। परिवार को गहलोत सरकार से मुआवजा दिलवाऊंगी।

प्रियंका ने कहा कि गरीबों, दलितों और महिलाओं की कोई नहीं सुन रहा है। सब लोग बड़ी-बड़ी बातें ही करते हैं। आज लोग अपने घर में ही सुरक्षित नहीं हैं। उन्हें घर से निकालकर घसीटा जा रहा है। सससे साफ होता है कि प्रदेश की भयावह स्थिति है। ये आजाद भारत नहीं है। पुलिसकर्मी हमारी सुरक्षा के लिए हैं। यदि यही हमारे साथ कुछ गलत करते हैं तो इनका सुरक्षा का क्या मतलब रह जाता है। महिला पुलिसकर्मियों द्वारा उनके साथ सेल्फी लिए जाने पर कार्रवाई की बात के बारे में उन्होंने कहा कि ये गलत बात है। उनका तो कैरियर तबाह हो जाएगा। परिवार में छोटे-छोटे बच्चे होंगे, उनका पालन पोषण कैसे होगा।

दीदी बहुत अच्छी हैं, हमारी मदद करेंगी-
दीदी प्रियंका बहुत अच्छी हैं। वह हमारी मदद करेंगे। तीनों बच्चों को पढ़ाएंगी और उनकी शादी भी कराएंगी। हम लोग उनसे मिलकर बहुत खुश हुए। हमारी सारी व्यथा दूर हो गई। ये बात मृतक अरुण की मां कमला देवी अैर पत्नी सोनम ने कही। प्रियंका भी उनसे मिलकर भावुक हो गईं। उन्होंने अरुण की पत्नी और मां को गले लगाते हुए कहा कि वह घबराएं नहीं। हिम्मत रखें। वह उन्हें न्याय दिलाएंगी।