राष्ट्रपति चुनाव : मुलायम हो सकते हैं विपक्ष के उम्मीदवार

नई दिल्ली | देश में राष्ट्रपति पद के लिए राजनैतिक दलों में लामबंदी तेज हो गयी है | सत्ता में आसीन भाजपा को इस चुनाव में हराने के लिए देश के तमाम विपक्षी दल एकजुट हो रहे हैं | कांग्रेस, सपा, टीएमसी, जेडीयू, राजद, बसपा सहित देश के सेक्युलर दल एकजुट होकर भाजपा को इस चुनाव में परास्त करने के लिए अंदरूनी रणनीति बनाने में जुट गए हैं | विपक्ष ऐसे चेहरे की तलाश कर रहा है जिसका भाजपा विरोध न कर पाए और वह आसानी से इस चुनाव को जीत सके, हालाँकि विपक्ष के लिए इस चुनाव को आसानी से जीत पाना मुमकिन नहीं है |

सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि कांग्रेस युवराज राहुल गाँधी से दोस्ती और गठबंधन करने वाले सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव अपने पिता सपा के संरक्षक मुलायम सिंह ‘नेताजी’ को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाने के लिए खेमेबंदी कर रहे  हैं | खबर यह भी है कि विपक्ष के तीन मुख्य दल इसके लिए सहमत भी हो गए हैं | माना जा रहा है कि भाजपा के उम्मीदवार का चेहरा देखने के बाद विपक्ष मुलायम सिंह यादव को राष्ट्रपति का उम्मीदवार घोषित कर सकता है | मुलायम यदि राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनते हैं तो माना जा रहा है कि यह चुनाव दिलचस्प हो सकता है | मुलायम को देश धर्मनिरपेक्ष नेता के तौर पर जनता है जो सांप्रदायिक ताकतों से खुलकर मोर्चा लेते रहे हैं |

अब देखना यह है कि विपक्ष मुलायम के नाम पर दांव खेलता है या कोई और चेहरा इस चुनाव में लाता है ?