इलाहाबाद: पर्यटन मानचित्र पर इलाहाबाद को चमकाने की अभूतपूर्व पहल

शशांक मिश्रा/इलाहाबाद| अर्द्धकुम्भ मेला आयोजन के पूर्व जिला प्रशासन ने नगर को उसके ऐतिहासिक और पौराणिक प्रकरणों से जोड़ते हुए सजाने का मन बना लिया है। ज्ञातव्त है कि माघ मेला का आकर्षक लोगो डिजाइन किये जाने के लिए एक प्रतियोगिता जिलाधिकारी संजय कुमार की पहल पर प्रारम्भ की गयी है। जिसमें 15 अक्टूबर 2017 तक प्रतिभागियों को भाग लेने हेतु आमंत्रित किया गया है। इच्छुक प्रतिभागी अपनी प्रविष्टियाँ prayagmaghmela@gmail.com  पर भेज सकते है एवं किसी प्रकार की जानकारी के लिए 9919697211 एवं 9415214552 पर सम्पर्क कर सकते है।
 इसी प्रकार इलाहाबाद को माघ मेला के मद्देनजर आकर्षक और भव्य बनाये जाने के लिए इलाहाबाद के ऐतिहासिक और पौराणिक संदर्भों को पर्यटकों के आकर्षण का बिन्दु बनाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा एक और प्रभावी पहल की जा रही है। जिसमें इलाहाबाद हैरिटेज वाक के माध्यम से इलाहाबाद की सुदूर प्राचीन कालीन ऐतिहासिक पृष्ठभूमि से लेकर मध्यकालीय इतिहास और आजादी की लड़ाई के दौरान इलाहाबाद के महत्व को उ.प्र. के पर्यटन को मानचित्र पर स्थापित करने की पहल जिला प्रशासन कर रहा है। इस हैरिटेज वाक और माघ मेला 2018 प्रयाग के लिए लोगों बनाये जाने तथा स्लोगन लिखने के लिए अनुभवी चित्रकारों और लेखकों के लिए आमंत्रित की गयी है। इसके लिए जिलाधिकारी ने विधिवत एक पोस्टर लांच कर अनुभवी कलाकारों एवं लेखकों से उनकी रचनाये मांगी गयी है। इलाहाबाद हैरिटेज वाक का प्रारम्भ 27 सितम्बर 2017 से किया जाना प्रस्तावित है। इसी दिन विश्व पर्यटन दिवस भी है जिस दिन प्रातः 6 बजे से चन्द्रशेखर आजाद पार्क से इलाहाबाद हैरिटेज वाक पर्यटन विभाग इलाहाबाद के तत्वाधान में प्रारम्भ किया जाना है। इस कार्यक्रम की नागरिकों एवं पर्यटकों की जानकारी के लिए जिलाधिकारी ने एक आकर्षक पोस्टर और प्रचार सामग्री विगत दिवस 19 सितम्बर 2017 को लांच की है।
      जिलाधिकारी ने बताया कि इस कार्यक्रम के माध्यम से इलाहाबाद आने वाले पर्यटकों और तीर्थयात्रियों को इलाहाबाद के ऐतिहासिक सन्दर्भो से जुड़ी  जानकारी पर आधारित सुविधाजनक भ्रमण टूर आयोजित किये जायेंगे जिसमें कुशल गाइड इलाहाबाद के प्रमुख तीर्थस्थलों और पर्यटन स्थलों की जानकारी आकर्षक ढंग से पर्यटकों को देंगे। जिलाधिकारी ने बताया कि इसका उद्देश्य इलाहाबाद के ऐतिहासिक और पौराणिक सौन्दर्य के साथ-साथ इसके भौगोलिक सौन्दर्य से जोड़कर पर्यटन का आकर्षक केन्द्र बनाना है। जिससे इलाहाबाद को वाराणसी एवं आगरा की तरह माघ मेला और कुम्भ मेला में पर्यटकों को आकर्षित कर सकें।