अलीगढ़ पुलिस को पता था गाँधी के पुतले को मारी जाएगी गोली, दरोगा सहित 2 सस्पेंड, पूजा शकुन पति सहित फरार

अलीगढ | राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर उनके पुतले को गोली मारकर जलाने वाली हिंदुवादी नेता पूजा शकुन पाण्डेय की मुश्किलें बडती जा रही हैं | पुलिस ने मुकद्दमा दर्ज कर उनके 6 साथियों को गिरफ्तार किया है | पूजा शकुन और उनके पति अभी भी फरार हैं | वहीँ देशभर में हुई किरकिरी के बाद एसएसपी ने दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही की है | महात्मा गाँधी के पुतले को गोली मारने के प्रकरण में एसएसपी ने थाने के दरोगा और एलआईयू के हेड कांस्टेबल को निलंबित कर दिया है। इन पर आरोप है कि राष्ट्रपिता का पुतला फूंकने, पुतले को गोली मारने और नाथूराम गोडसे को भगवान श्रीकृष्ण की उपमा दिए जाने के मामले की सूचना होने के बावजूद उन्होंने अधिकारियों को अवगत नहीं कराया।

पुलिस प्रवक्ता के अनुसार थाना गांधी पार्क के दरोगा महावीर सिंह और एलआईयू के हेड कांस्टेबल आतोष सिंह को एसएसपी ने इस प्रकरण में गुरुवार देर शाम निलंबित कर दिया है। इन पर कर्तव्य में लापरवाही का आरोप है।

इधर, टप्पल की चौकी जट्टारी के प्रभारी सब इंस्पेक्टर बालकिशन को खुलेआम सट्टे की खाईबाड़ी होने की सूचना के बावजूद कार्रवाई नहीं करने पर निलंबित कर दिया गया है। इसी तरह होमगार्ड ऊधम सिंह की भूमिका इस मामले में संदिग्ध होने पर उनके खिलाफ भी कमांडेंट को लिखा गया है।