आगरा में अय्याशी के अड्डों पर पुलिस मेहरबान, जिस्मफरोशी के धंधे के बाद भी सील नहीं किये ‘स्पा सेंटर’

आगरा | सदर और ताजगंज के स्पा सेंटरों पर बृहस्पतिवार को छापे के डर से ताले लटके रहे। हालांकि न तो पुलिस चेकिंग के लिए पहुंची। न ही प्रशासन का कोई अफसर सील लगाने के लिए जबकि आयुर्वेद के अधिकारियों ने रिपोर्ट दी है कि ये सभी सेंटर अवैध हैं। सदर में ही 100 सेंटर है। ताजगंज, कमला नगर में भी स्पा सेंटर चल रहे हैं। इन्हीं बॉडी मसाज सेंटर के नाम से चलाया जा रहा है। 50 सेंटर अन्य जगह हैं। इस तरह शहर में 150 सेंटर है। सदर में पुलिस ने पांच दिन पहले चार पर छापा मारा था। चारों में देह व्यापार होता मिला था। 19 युवतियां और छह युवक जेल भेजे गए थे।

दो सेंटर के संचालक अब भी फरार हैं। बुधवार को आयुर्वेद अधिकारी निरीक्षण के लिए पहुंचे। तब भी देह व्यापार होता मिला। माना जा रहा था कि बृहस्पतिवार को पुलिस फिर से छापे मारेगी। इसी डर से स्पा सेंटर बंद भी रहे लेकिन पुलिस ने ऐसा नहीं किया। आयुर्वेद एवं यूनानी विभाग के क्षेत्रीय अधिकारी डॉ. जेके राणा ने बताया कि डीएम के निर्देश पर निरीक्षण किया था। रिपोर्ट दे दी है। सभी स्पा सेंटर अवैध हैं। इन पर कार्रवाई होनी चाहिए।

बुधवार को फतेहाबाद रोड स्थित रीवा स्पा सेंटर, ऑरेंज बॉडी मसाज , स्वाद डी स्पा सेंटर में देह व्यापार मिला था। सदर में ही 100 सेंटर है। इनमें से 50 में देह व्यापार चल रहा है। इसकी जानकारी पुलिस को पहले ही मिल चुकी है। सिर्फ स्पा सेंटर ही नहीं, सिकंदरा और न्यू आगरा में जिन होटलों में सेक्स रैकेट पकड़े जा चुके हैं, उन पर भी सील नहीं लगाई गई है। इस बारे में एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद से पूछा गया कि जब स्पा सेंटर अवैध हैं और उनमें देह व्यापार की पुष्टि हो चुकी है तो पुलिस के छापे बंद हो क्यों हो गए? उनका कहना है कि साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। जो लोग जेल गए हैं ,उनसे पूछताछ में मिली जानकारी पर काम हो रहा है। इस पर स्थायी कार्रवाई की जाएगी। प्रशासन को रिपोर्ट देकर सभी अवैध स्पा सेंटरों पर सील लगवाई जाएगी ।

आईजी रेंज ए सतीश गणेश के पास यह शिकायत पहुंची है। लोगों ने बताया है कि ताजगंज की एक कॉलोनी में फ्लैट में सेक्स रैकेट चल रहे है। यहां हाईप्रोफाइल लोग आते हैं। युवतियां सुबह कार से आती हैं। फ्लैट किराए पर ले रखे हैं। आईजी ने एसएसपी को कार्रवाई के लिए निर्देश दिए हैं।