PM मोदी ने नमो एप से बीजेपी सांसदों-विधायकों को दिया मंत्र

नई दिल्ली | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (रविवार) भाजपा सांसदों-विधायकों से रू-ब-रू हुए। नमो एप के जरिए उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से उन्होंने की। पीएम इस दौरान स्वच्छता अभियान और ग्राम स्वराज अभियान की सार्थकता और नए अध्यादेश को लेकर बातचीत की। नमो एप के जरिए प्रधानमंत्री ने उनके सवालों के जवाब भी दिए। इस दौरान उदयपुर के सांसद अर्जुन लाल मीणा ने सवाल किया कि किसानों की आय कैसे दोगुनी होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सांसदों से कहा कि सांसद अपने क्षेत्रों में काम करना शुरू करें। मैं ब्रिटेन गया था। वहां बड़ा अच्छा अनुभव रहा। मुझे खुशी होगी कि हमारे सांसद और विधायक सवाल पूछें।

भोपाल के सांसद आलोक संजर ने प्रधानमंत्री से सवाल पूछा कि कौशल विकास से युवाओं को क्या फायदा होगा ?
उनके इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि वक्त के साथ सब बदलता है। मैं जब गुजरात का सीएम था। एक गांव जाकर मैं हैरान था कि 800 लोगों की आबादी वाले गांव में दो लड़कियां ब्यूटीपार्लर चला रही थीं। आज रोजगार का स्वरूप बदल रहा है। गांव के लोगों में भी कौशल होता है। मुद्रा योजना से युवाओं को रोजगार शुरू करने में मदद मिल रही है। शादियों-पार्टियों में पंगत भोजन से खाने की बचत हो सकती है। मैंने देखा है कि एक गांव की महिलाओं ने संगठन बनाकर समारोहों में भोजन परोसने का काम किया और हजारों लोगों का भोजन बचाया।

उदयपुर के सांसद अर्जुन लाल मीणा ने सवाल किया कि किसानों की आय कैसे दोगुनी होगी ?
इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि हमारे किसान आज भी पूर्वजों की परंपरा के मुताबिक खेती कर रहे हैं। किसानों को स्वाइल हेल्थ कार्ड का लाभ उठाते हुए परीक्षण कराने चाहिए। इससे खेती में उनकी उपज बढ़ेगी। इसके साथ ही शहद और बांस तैयार करने का काम किया जा सकता है। मैं चाहूंगा कि हर विधायक किसानों की कार्यशालाएं करें। उनके साथ बैठकर बातचीत करें। जहां तक एमएसपी की बात है। कांग्रेस सरकार ने स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों को लागू नहीं किया। हमने किसानों को फायदा देने के लिए इसे लागू किया। किसानों को इसके बारे में बार-बार बताना होगा, ताकि उन्हें फायदा मिले।

अहमदाबाद से सांसद डॉ. कीर्ति सोलंकी ने पूछा कि ग्राम शक्ति को कैसे आगे बढ़ाया जाए ?
तब पीएम मोदी ने कहा कि मैंने गुजरात में समरस योजना शुरू की थी। इसके तहत 50 गांव के लोग बैठकर एक समिति बनाते थे। उसी के तहत विकास कार्य चलते थे। गांव में लोग समाज, अमीर-गरीब और धर्म के आधार पर नहीं बंटने चाहिए। गांव के हर आदमी को अपनी जिम्मेदारी समझानी होगी। बच्चों को स्कूल जाने और लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें। अन्ना हजारे ने सफाई पर बल दिया और अपने गांव को सफाई का मॉडल बना दिया। हम सबको इस पर बल देना चाहिए।

उत्तर प्रदेश के विधायक सुरेश राही ने पूछा कि गांवों में सरकार की योजनाओं को कैसे प्रचारित किया जाए ?
इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी बोले, सभी विधायकों को तय करना चाहिए कि समाज के लिए एक काम तो जरूर करूंगा। गांवों में विकास के कामों में खर्च की सूची सार्वजनिक करें। नियमित रूप से ग्रामसभा करें और लोगों को जागरूक करने का काम करें। किसानों को सोलर पंप लगवाएं। किसान एक साथ पूरे गांव के लिए यूरिया लेकर आएं, इससे ट्रांसपोर्टेशन का खर्च बचेगा। मैं विधायकों और सांसदों से आग्रह करता हूं कि अगर वे अपने इलाके में तीन लाख से ज्यादा ट्विटर फॉलोअर्स तैयार कर लेते हैं तो मैं उनसे भी बात करने के लिए तैयार हूं। इसके लिए समय जरूर निकालूंगा, भले ही इसमें कुछ देरी क्यों न हो।