PM मोदी बोले, ‘मैंने विश्व बैंक की इमारत नही देखी’

नई दिल्ली। पीएम ने शनिवार को प्रवासी भारतीय केंद्र में भारतीय बिजनेस रिफॉर्म पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ लोगों को भारत की रैंकिंग 142 से 100 होने की बात समझ नहीं आ रही है। इनमें से कुछ तो ऐसे हैं जो पहले वर्ल्ड बैंक में रह चुके हैं लेकिन आज भी रैंकिंग पर सवाल उठा रहे हैं।

मैने नहीं देखी वर्ल्ड बैंक की बिल्डिंग:

पीएम ने कांग्रेस को निशाना बनाते हुए कहा कि मैंने तो कभी वर्ल्ड बैंक की बिल्डिंग भी नहीं देखी, जबकि पहले तो वर्ल्ड बैंक को चलाने वाले यहां बैठा करते थे। यदि इन्साल्वेंसी और बैंकरप्टी कोड जैसे सुधार आपके समय में लागू हुए होते तो यह सौभाग्य आपके हिस्से में नहीं आता क्या? करना कुछ नहीं और जो कर रहा है उससे सवाल पूछे जा रहे हैं।

वर्ल्ड बैंक ने किया हमारे काम का सम्मान:

पीएम ने इससे पहले कहा कि वर्ल्ड बैंक ने ईज ऑफ डूइंज बिजनेस के लिए हमारे द्वारा किए कए शानदार काम को सम्मान दिया है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस हमें ईज ऑफ डूइंग लाइफ की तरफ भी ले जाता है। पीएम ने कहा कि मेरे पास और क्या काम है? बस एक ही काम है, ये देश, मेरे देश की सेवा, सौ करोड़ लोग और उनके जीवन में बदलाव लाना।

पहले हासिल हो जाती बेहतर रैंकिंग:

पीएम मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत को यह रैंकिंग काफी पहले मिल सकती थी, हम काफी पहले एक बेहतर राष्ट्र बन सकते थे। उन्होंने कहा, “वर्ल्ड बैंक की रैंकिंग पर सवाल उठाए जाने के बजाए हमें भारत को एक बेहतर राष्ट्र बनाने की दिशा में प्रयास करना चाहिए।”