राष्ट्रीय गंगा परिषद की पहली बैठक में PM मोदी ने की समीक्षा, अखिलेश ने साधा निशाना

कानपुर (उप्र)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रीय गंगा परिषद की पहली बैठक की अध्यक्षता करने के लिये शनिवार सुबह कानपुर पहुंचे। मोदी विशेष विमान से कानपुर के चकेरी हवाईअड्डा पहुंचे, जहां उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ अन्य मंत्रियों ने उनका स्वागत किया। प्रधानमंत्री मोदी कानपुर में ‘नमामि गंगे’ परियोजना के तहत गंगा नदी को अविरल और निर्मल करने के प्रयासों की समीक्षा किया। परिषद की पहली बैठक में मोदी कानपुर शहर में नमामी गंगे की परियोजनाओं की स्थिति और नदी में गिर रहे नालों का जायजा लेंगे।

प्रधानमंत्री चकेरी हवाईअड्डे पर उतरने के बाद हेलीकॉप्टर से चंद्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय (सीएसए) पहुंचे। इसके बाद उन्होंने नमामि गंगे अभियान के तहत लगी प्रदर्शनी का अवलोकन किया। गंगा परिषद की बैठक के बाद प्रधानमंत्री गंगा बैराज स्थित अटल घाट जाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी के दौरे के मद्देनजर वहां कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। कड़े सुरक्षा इंतजामों के चलते सीएसएयू और गंगा बैराज के आसपास के अतिथिगृहों में एक दिन के लिए सभी समारोह स्थगित कर दिए गए हैं। यातायात प्रतिबंधों के चलते इन इलाकों के कई स्कूलों में छुट्टी का भी ऐलान किया गया है।

इस बीच समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट करके प्रधानमंत्री की इस यात्रा पर कटाक्ष किया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘सुना है, प्रधान जी गंगा की स्वच्छता एवं प्रदूषण मुक्ति के लिए कानपुर में बड़ी बैठक कर रहे हैं। वहां निरीक्षण के समय फिर से गंगा में गिरनेवाले नालों का मुख मोड़कर ‘नक़ली सफ़ाई’ को झूठ का चश्मा पहनाया जाएगा। सलाह है कि प्रधान जी पहले भ्रष्टाचार का गोमुख साफ करें तब कानपुर पहुँचें।