सावधान! ट्रैफिक नियम तोड़े तो सोशल मीडिया पर वायरल होगी फोटो

यदि आप ट्रैफिक नियमों को उल्लंघन करते हैं तो सावधान हो जाइये। आपको फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो सकता है। ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों को कैमरे में कैद करने के लिए नोएडा जिला प्रशासन और परिवहन विभाग ने 10 फोटोग्राफर की टीम उतारी है। यह टीम प्रदूषण फैलाने वालों के फोटो भी खींचेगी। ट्रैफिक व्यवस्था को सुचारु रखने और सड़क हादसे कम करने के लिए प्रशासन ने यह पहल की है। जिलाधिकारी बीएन सिंह ने बताया कि इस पहल के तहत दस फोटोग्राफर की एक टीम को सड़कों पर लगाया गया है। यह टीम गोपनीय तरीके से अलग-अलग स्थानों पर ट्रैफिक के नियमों का उल्लंघन करने वालों और प्रदूषण फैलाने वालों को कैमरे में कैद करेगी। इन फोटो के आधार पर वाहन चालके के खिलाफ परिवहन विभाग और प्रदूषण विभाग द्वारा कार्रवाई की जाएगी।

इन फोटो का प्रचार भी जनसामान्य के बीच सोशल मीडिया के जरिये किया जाएगा। इसके जरिये बताया जाएगा कि ये लोग यातायात के नियम तोड़ते हैं, कहीं आप भी तो इनमें शामिल नहीं। उनका प्रयास है कि जिले के लोग पर्यावरण सुरक्षा और ट्रैफिक के नियमों के प्रति सजग रहें और नियमों का उल्लंघन न करें। लोग अपने शहर को साफ, स्वच्छ और सुरक्षित बनाने में सहयोग करें और ट्रैफिक व्यस्था को भी सुचारु बनाएं। पहले दिन 64 लोगों के लिए फोटो खींचे : जिले की सड़कों पर उतारी गई 10 फोटोग्राफर की टीम ने पहले दिन ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वाले 64 लोगों के फोटो खींचे। इन सभी के फोटो कार्रवाई के लिए परिवहन विभाग को भेज दिए गए हैं और उनके चालान किए जा रहे हैं। इन फोटो को सोशल मीडिया पर भी डलवाया जा रहा है।

शहर में कैमरे के जरिए पांच जगह वाहनों के चालान किए जा रहे हैं। इनमें नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे, एमपी टू एलिवेटेड रोड, सेक्टर-31-25, 57 और 21ए स्थित नोएडा स्टेडियम चौराहा शामिल है। इन जगह लालबत्ती जंप, जेबरा क्रॉसिंग, बिना हेलमेट, बिना सीट बेल्ट के उल्लंघन पर चालान होते हैं इस साल जनवरी से अक्टूबर तक 611090 हजार वाहनों के चालान किए जा चुके हैं। सबसे ज्यादा चालान हेलमेट नहीं पहनने पर 112706, सीट बेल्ट का उल्लंघन करने पर 104408, विपरीत दिशा में चलने पर 62564 चालान किए गए।

ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक, वर्ष 2017 में 1043 सड़क दुर्घटनाएं हुई थी, जिसमें 423 लोगों की जान गई थी। वर्ष 2018 में दिसंबर तक 1067 हादसे हुए थे और 452 लोगों की जान गई थी। इस साल जनवरी से लेकर अक्टूबर तक 964 सड़क हादसे हुए हैं और 407 लोगों की जान गई है।